पबजी खेलने से रोका तो लखनऊ भाग गए 3 बच्चे


  • परिजनों ने ऑनलाइन पढ़ाई के लिए खरीदकर दिया था फोन
  • ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान पबजी की लग गई लत
  • गुरुवार को दोपहर पुलिस को बच्चे मिल गए
गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में तीन नाबालिग बच्चे इसलिए घर छोड़कर भाग गए कि उन्हें घर पर पबजी गेम नहीं खेलने दिया जाता था। मंगलवार की रात साइकिल और बैग लेकर भागे बच्चों की तलाश में रातभर उनके परिजन दौड़-भाग करते रहे, लेकिन उनका कहीं पता नहीं चला। परिजन ने बच्चों के गायब होने की शिकायत थाने में की तो पुलिस तुंरत एक्टिव होकर उनकी तलाश करने लगी। गुरुवार को दोपहर 12 बजे पुलिस को बच्चे भी मिल गए। बच्चों ने पुलिस को बताया कि घर पर पबजी और फ्री फायर गेम खेलने पर परिजन डांटते थे, इसलिए वे घर छोड़कर लखनऊ चले गए थे, वहां पर मजदूरी कर जो पैसा मिलता उससे मोबाइल खरीदने की योजना बनाई थी।
पाबंदी लगाने पर नाराज हो गए बच्चे
गोरखपुर के गुलरिहा इलाके से घर से भागे 14 साल के रोहन चौहान के पिता रामसिंह ने बताया कि ऑनलाइन पढ़ाई के लिए स्कूल के निर्देश पर बच्चे को एंड्राइड मोबाइल खरीदकर दिया था। ऑनलाइन पढ़ाई करते-करते बच्चे को पबजी गेम खेलने की लत लग गई। मैंने उसकी ऑनलाइन पढ़ाई बंद कर मोबाइल ले लिया, तब से वो गुमसुम रहने लगा। इसके बाद वो अपने दो दोस्त 12 साल के रवि और 13 साल के पुतुल गौड़ के साथ मंगलवार की रात गायब हो गया। जब कहीं पता नहीं चला, तब 7 जुलाई को गुलरिहा थाने में इसकी लिखित तहरीर दी। बच्चों के गायब होने की सूचना पर एसएसपी गोरखपुर दिनेश कुमार प्रभु ने 25 हजार का इनाम भी रख दिया था।
रेलवे स्टेशन पर मिले तीनों बच्चे
बुधवार की रात इस मामले में गुलरिहा थानें में शिकायत दर्ज की गई। इसके बाद बच्चों को खोजने के लिए एसएसपी के निर्देश पर स्पेशल टीम बनाई गई। पुलिस टीम को सोशल मीडिया की मदद से गुरुवार को बच्चों तक पहुंचने में सफलता भी मिल गई। गोरखपुर रेलवे स्टेशन से बच्चे बरामद कर लिए गए। बच्चों ने पुलिस को बताया कि उन्हें घर पर पबजी गेम नहीं खेलने दिया जाता है, इसलिए वे घर से भागे।