पीतमपुरा में चावल कारोबारी के कार्यालय से 42 लाख की लूट के मामले में नौ गिरफ्तार


नई दिल्ली। पीतमपुरा इलाके से 5 जुलाई को प्रवीण जैन के ऑफिस से हथियारबंद 4 बदमाशों द्वारा की गई 42 लाख रुपये की लूट मामले में नॉर्थ-वेस्ट जिला पुलिस ने 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से 4 साजिश रचने वाले और 5 डकैती डालने वाले हैं। इनमें दो ने पैसों वाला इनपुट दिया था। गिरफ्तार आरोपियों में रजत, दीपक, संतोष और परवेज ने पूछताछ में बताया कि लूट में इतनी बड़ी रकम हाथ लगने के बाद सब दिल्ली से भाग गए थे। पहले तीन-चार दिन पटनीटॉप घूमे। फिर यहां से 5-6 दिन लखनऊ होते हुए नेपाल पहुंच गए। नेपाल में भी इन्होंने 5-6 दिन खूब मस्ती की। इसके बाद जब यह दिल्ली आए तो यहां पकड़े गए।
डीसीपी उषा रंगनानी ने बताया कि आरोपियों से 30 लाख रुपये, वारदात में इस्तेमाल की गई दो बाइक, 4 बटनदार चाकू, एक कट्टा और दो जिंदा कारतूस समेत अन्य चीजें बरामद की गई हैं। इन्हें जिले के स्पेशल स्टाफ और मौर्या एन्क्लेव थाना पुलिस ने पकड़ा है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपियों की पहचान रजत उर्फ कर्ण गौड़, संतोष, दीपक, परवेज सिद्दीकी और समीर हैं। जबकि पकड़े गए अन्य 4 साजिश रचने वालों में जफर, राकेश, विकास उर्फ विक्की और सुमित उर्फ बिहारी शामिल हैं।
इनमें से चार बदमाशों ने 5 जुलाई की दोपहर करीब 2:30 बजे पीतमपुरा स्थित प्रवीण जैन के ऑफिस में लूट की वारदात को अंजाम दिया था। चारों चाकू और पिस्तौल लिए हुए थे। गन पॉइंट पर की गई इस लूट में इनका एक साथी बाहर खड़ा था। मामले में करीब 300 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज और अन्य तकनीकी मदद से पहले दो आरोपी पकड़े गए। उनकी निशानदेही पर गुत्थी सुलझती गई और अंत में 9 मुलजिम पकड़ लिए गए।