नोएडा में पत्नी ने जीजा के साथ मिलकर कर दी पति की हत्या, 45 लाख बने मौत की वजह


  • नोएडा की सूरजपुर कोतवाली एरिया के गढ़ी शहदरा गांव से गायब हुए शख्स का चौंकाने वाला खुलासा पुलिस ने किया है
  • पत्नी ने ही जीजा व उसके तीन आरोपियों के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी
  • उसके शव को झज्जर के कपला गांव स्थित नहर में फेंक दिया
  • पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर मौके से मृतक का आधार कार्ड, क्रेडिट कार्ड और बाइक बरामद कर ली है
नोएडा ब्यूरो। नोएडा की सूरजपुर कोतवाली एरिया के गढ़ी शहदरा गांव से गायब हुए शख्स का चौंकाने वाला खुलासा पुलिस ने किया है। पत्नी ने ही जीजा व उसके तीन आरोपियों के साथ मिलकर पति की हत्या कर दी। उसके शव को झज्जर के कपला गांव स्थित नहर में फेंक दिया। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर मौके से मृतक का आधार कार्ड, क्रेडिट कार्ड और बाइक बरामद कर ली है। हालांकि, शव को पुलिस अभी बरामद नहीं कर सकी है। पुलिस ने चारों आरोपियों का गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।
27 जून को गढ़ी शहदरा निवासी अजीत भाटी अचानक लापता हो गए थे। सूरजपुर कोतवाली प्रभारी ने बताया कि अजीत ने अपने ताऊ के बेटे संजय भाटी को गांव में ही एक प्लाट 55 लाख रुपये बेचा था। 21 जून को संजय ने 45 लाख रुपये का भुगतान अजीत और उसकी पत्नी कविता के जॉइंट खाते में किया। संजय भाटी 28 जून को अजीत से मिलने के लिए उसके घर गया। पत्नी कविता ने बताया कि अजीत घर पर नहीं है, साथ ही अपनी स्कूटी, मोबाइल, पर्स आदि भी घर छोड़कर गए हैं। लापता होने के बाद ही कविता ने संजय भाटी से 13 लाख रुपये शहदरा गांव निवासी जीजा आदेश भाटी के अकाउंट में ट्रांसफर करा लिए। जिसकी जानकारी पर संजय को शक हुआ तो उसने जानकारी पुलिस को दी।
जीजा के साथ मिलकर कराई पति की हत्या
दरअसल, संजय भाटी ने सूरजपुर कोतवाली में अजीत की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। शक के आधार पुलिस ने कविता से पूछताछ की तो उसने ने पूरी घटना का खुलासा कर दिया। कविता ने अपने जीजा आदेश भाटी के साथ मिलकर अजीत की हत्या की। आरोपियों ने फूड डिलीवरी करने वाले मोहित से हत्या करवाने की 5 लाख में डील की। इन्होंने 50 हजार रुपये एडवांस मोहित को दिए थे। गढ़ी शहदरा निवासी कविता, अलीगढ़ निवासी मोहित, गढ़ी शहदरा निवासी आदेश और कपिल को पकड़ा है।
45 लाख रुपये बने हत्या की वजह
एडीसीपी क्राइम इलामर जी ने बताया कि अजीत नशे का आदी था। वह अक्सर कविता के साथ मारपीट भी कर दिया करता था। कविता और आदेश ने ही अजीत के मकान में किराये पर रहने वाले मोहित निवासी अलीगढ़ को 5 लाख रुपये दिए थे। 27 जून की रात ही कविता ने गला दबाकर अजीत की हत्या की। जिसके बाद मोहित और कपिल उसे कपला नहर में शव को फेंककर आए थे। उन्होंने बताया कि प्लाट के रुपये को बर्बाद न कर दे। जिसके लिए उसकी हत्या की गई।