गाजियाबाद के दूध के प्लांट में अमोनिया गैस का रिसाव, दमकलकर्मी सहित 6 हुए बेहोश, पानी की बौछार से किया काबू


गाजियाबाद ब्यूरो। गाजियाबाद के लिंक रोड के साहिबाबाद औद्योगिक क्षेत्र साइट चार स्थित पारस दूध प्लांट में सोमवार रात को वॉल्व लीक होने से अमोनिया गैस का रिसाव हो गया। तभी प्लांट में काम कर रहे करीब 25 लोग फंस गए। मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियों ने पानी की बौछार कर सभी लोगों को बाहर निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया। इस दौरान प्लांट के दो कर्मचारियों की हालत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं बचाव कार्य के दौरान चार दमकलकर्मी भी बेहोश हो गए। देर रात सभी की हालत सामान्य बताई गई।  
पारस दूध के प्लांट में  सोमवार रात को करीब नौ बजे कर्मचारी अमोनिया का प्रेशर बना रहे थे। इसी दौरान वॉल्व लीक हो गया और अमोनिया गैस का रिसाव होने लगा। कर्मचारियों ने कोशिश की, लेकिन रिसाव बढ़ता गया।
सूचना पाकर सीएफओ सुनील सिंह दमकल की छह गाड़ियों को लेकर मौके पर पहुंचे। तब तक प्लांट में काम कर रहे मजदूरों में अफरातफरी मच गई। कर्मचारी बचाव के लिए इधर-उधर भागने लगे। सबसे पहले पानी की बौछार कर फंसे हुए करीब 25 लोगों को बाहर निकाला गया।
ब्रीथिंग ऑपरेशन सेट पहनकर सीएफओ समेत छह कर्मचारी वॉल्व को बंद करने में जुट गए। कड़ी मशक्कत के बाद वॉल्व को बंद किया गया। इस दौरान प्लांट के दो कर्मचारियों की हालत खराब हो गई। जिन्हें अस्पताल ले जाया गया है। वहीं दमकल के चार कर्मी बेहोश हो गए और उल्टी करने लगे। सभी को पानी पिलाकर सामान्य किया गया।
सीएफओ सुनील सिंह ने बताया कि करीब नौ बजकर तीन मिनट पर सूचना मिली थी। जिसके बाद वैशाली साहिबाबाद और कोतवाली की करीब आधा दर्जन से अधिक गाड़ियों को बुलाकर पानी की बौछार कराई गई। बचाव कार्य के दौरान कर्मचारियों की हालत बिगड़ गई थीं। हालांकि सभी खतरे से बाहर हैं। स्थिति को देखते हुए जिले भर के 45 ब्रीथिंग आपरेशन सेट मंगाए गए थे।