मोदी कैबिनेट में यूपी के 7 चेहरों को मिली जगह, अनुप्रिया पटेल, डॉ एसपी बघेल समेत कई नाम शामिल


  • नरेंद्र मोदी कैबिनेट में उत्‍तर प्रदेश से सात नए चेहरे शामिल
  • अनुप्रिया पटेल, कौशल किशोर, डॉ एसपी बघेल का नाम
  • पंकज चौधरी, भानु प्रताप वर्मा, बीएल शर्मा और अजय मिश्रा भी शामिल
लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैबिनेट में शामिल होने वाले 43 चेहरों के नाम सामने आ गए हैं। इनमें उत्‍तर प्रदेश से सबसे ज्‍यादा सात नेताओं का नाम शामिल है। इस कैबिनेट विस्‍तार में राजनीतिक समीकरण के लिहाज से जातीय और क्षेत्रीय संतुलन साधा गया है। इन नए चेहरों में अनुप्रिया पटेल, डॉ एसपी बघेल, पंकज चौधरी, भानु प्रताप वर्मा, कौशल किशोर, बीएल शर्मा और अजय कुमार मिश्रा का नाम शामिल है। आगामी यूपी विधानसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार में ओबीसी प्रतिनिधित्व बढ़ाया गया है।
मिर्जापुर से सांसद अनुप्रिया पटेल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पिछली सरकार में सबसे युवा मंत्रियों में शुमार थीं। पंकज चौधरी महाराजगंज से और अजय कुमार मिश्रा लखीमपुर खीरी से सांसद हैं। वहीं, बीएल वर्मा राज्‍यसभा के सदस्‍य हैं। इनके अलावा कौशल किशोर मोहनलालगंज से सांसद हैं। इससे पहले चर्चा थी कि यूपी में ब्राह्मण वोटबैंक साधने के लिए हाल ही में कांग्रेस से बीजेपी में आए जितिन प्रसाद को भी केंद्रीय कैबिनेट शामिल किया जा सकता है। गोरखपुर के सांसद रवि किशन शुक्‍ला, रामशंकर कठेरिया और सत्‍यपाल सिंह को भी मंत्री बनाए जाने की चर्चा चल रही थी।
मोदी मंत्रिमंडल के विस्‍तार को उत्‍तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के नजरिये से अहम माना जा रहा है। इस विस्‍तार के माध्‍यम से बीजेपी कुछ खास जाति और वर्ग के वोटरों के बीच बड़ा मैसेज देना चाह रही है। बीजेपी के सहयोगी दल निषाद पार्टी के इकलौते सांसद प्रवीण निषाद के भी मंत्री बनाए जाने की चर्चा थी। इनके अलावा रीता बहुगुणा जोशी या सीमा द्विवेदी में से किसी एक को मंत्री पद दिए जाने की बात चल रही थी।
मोदी कैबिनेट में शामिल 7 मंत्री -
1- अनुप्रिया पटेल
मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में भी मंत्री रह चुकीं अनुप्रिया पटेल मिर्जापुर से बीजेपी की सहयोगी अपना दल की सांसद हैं। वह केंद्रीय राज्‍य स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री का पद संभाल चुकी हैं। वह विधायक भी रह चुकी हैं। राजनीति में आने से पहले वह एमिटी यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर थीं। उन्‍होंने कानपुर के छत्रपति शाहूजी महाराज यूनिवर्सिटी से एमबीए किया है।
2. डॉ एसपी बघेल
आगरा से पांचवीं बार के सांसद डॉ सत्‍यपाल सिंह बघेल यूपी सरकार में कैबिनेट मिनिस्‍टर रह चुके हैं। वह उत्‍तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्‍य रह चुके हैं। उन्‍होंने मेरठ की चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी से पीएचडी और एलएलबी की है।
3. कौशल किशोर
कौशल किशोर मोहनलालगंज से दूसरी बार सांसद बने हैं। वह यूपी विधानसभा के सदस्‍य भी रह चुके हैं। वह यूपी सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। पिछले तीस सालों से राजनीति कर रहे कौशल किशोर ने कालीचरण इंटर कॉलेज से बीएससी की पढ़ाई की है।
4. भानु प्रताप वर्मा
जालौन से पांचवीं बार के सांसद भानु प्रताप वर्मा उत्‍तर प्रदेश विधान परिषद के सदस्‍य भी रह चुके हैं। उन्‍होंने 1980 में अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। वह तीन दशकों से राजनीति में सक्रिय हैं। उन्‍होंने बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी से एमए और एलएलबी की शिक्षा ली है।
5. पंकज चौधरी
पंकज चौधरी महाराजगंज से छह बार से सांसद हैं। वह गोरखपुर के डेप्‍युटी मेयर भी रह चुके हैं। वह पिछले 30 सालों से राजनीति कर रहे हैं। वह गोरखपुर यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएट हैं।
6. बीएल वर्मा
यूपी से राज्‍यसभा सदस्‍य बीएल वर्मा (59) पहली बार के सांसद हैं। उनका राजनीतिक करियर करीब 35 सालों का है। उन्‍होंने वाराणसी के संपूर्णानंद संस्‍कत विवि से एमए तक शिक्षा प्राप्‍त की है। उनका जन्‍म रुहेलखंड में हुआ।
7. अजय कुमार मिश्रा
लखीमपुर खीरी से दूसरी बार के सांसद अजय कुमार मिश्रा तीस साल से राजनीति में हैं। वह यूपी विधानसभा और खीरी जिला परिषद के सदस्‍य भी रह चुके हैं। उन्‍होंने कानपुर यूनिवर्सिटी से बीएससी और एलएलबी की है।