लेबर कमिश्नर पर महिला अधिकारी ने लगाया दुष्कर्म का आरोप, तो दूसरी अधिकारी ने खड़ा कर दिया नया बवाल


  • विभाग की महिला अधिकारी ने दर्ज करवाया दुष्कर्म का मुकदम
  • इधर रेप का आरोप लगाने वाली महिला अधिकारी के खिलाफ़ दूसरी महिला अधिकारी ने भी दर्ज करवाया मुकदमा
  • दूसरी महिला अधिकारी ने दर्ज करवाया एससी/एसटी एक्ट में मुकदमा
कोटा। राजस्थान का कोटा श्रम विभाग गम्भीर आरोपों का अखाड़ा बना हुआ हैं। विभाग की एक महिला अधिकारी ने विभाग के लेबर कमिश्नर पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज करवाया है, तो विभाग की दूसरी महिला अधिकारी ने लेबर कमिश्नर पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला अधिकारी के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज करवाया है। दोनों मुकदमे कोटा शहर के नयापुरा पुलिस थाने में दर्ज हुए हैं। सीआई मुकेश मीणा ने कहा पुलिस दोनों मुकदमों में लगे गंभीर आरोपों की जांच में जुट गई है।
पीड़ित महिला की ओर से कोटा लेबर कमिश्नर प्रदीप झा पर दुष्कर्म का आरोप लगाया गया है। पीड़ित महिला अधिकारी ने पुलिस को शिकायत दी है कि लेबर कमिश्नर नवंबर 2019 को उसे दिल्ली ले गया, जहां राजस्थान हाउस मैं उसके साथ दो बार रेप किया गया। शिकायत में यह भी बताया गया है कि लेबर कमिश्नर जहां उसे अक्टूबर 2019 को बूंदी लेकर गया जहां एक गेस्ट हाउस में गलत तरीके से छुआ। महिला अधिकारी का कहना है कि जनवरी 2020 में भी लेबर कमिश्नर प्रदीप झा कोटा स्थित पीपल्दा हाउस में बुलाया और वहां अपने कमरे में दुष्कर्म करने का प्रयास किया। सितंबर 2020 को भी इसी स्थान पर लेबर कमिश्नर ने उसे बुलाया और फिर वही दुष्कर्म करने की हरकत की।
महिला अधिकारी का कहना , दो साल से कर रहा है शोषण
वहीं महिला अधिकारी ने लेबर कमिश्नर पर डराने धमकाने के भी गंभीर आरोप लगाए हैं, जिनकी पुलिस जांच कर रही है। पुलिस महिला अधिकारी के जल्द ही 164 के बयान करवाएगी। क्योंकि महिला अधिकारी ने लेबर कमिश्नर पर पिछले 2 सालों से दुष्कर्म व शारीरिक शोषण करने का आरोप लगाया है।
इधर दूसरी महिला अधिकारी ने शिकायतकर्ता महिला पर किया मुकदमा
मिली जानकारी के अनुसार श्रम विभाग में दो महिला अधिकारी है। दोनों एक ही बैच की है, बैचमेट है। एक साथ दोनों ने श्रम विभाग में साल 2017 में जॉइनिंग ली थी। एक महिला अधिकारी ने लेबर कमिश्नर पर रेप के गंभीर आरोप लगाए हैं ,तो दुष्कर्म के आरोप लगाने वाली महिला अधिकारी के खिलाफ दूसरी महिला अधिकारी ने जाति सूचक शब्दों में अपमानित करने के आरोप जड़े हैं।