बदहाल स्थिति में पहुंचा पाकिस्तान, कर्ज के लिए सऊदी अरब के सामने पसारा हाथ


इस्लामाबाद। भारत के पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान की स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। पड़ोसी मुल्क के साथ रिश्ते खराब होने की वजह से पाकिस्तान को चीन तो कभी किसी अन्य देश के सामने हाथ पसारना पड़ता है। इतना ही नहीं इमरान खान सरकार की स्थिति को इतनी ज्यादा बिगड़ चुकी है कि उन्हें भैंस तक बेचना पड़ चुका है। इसी बीच जानकारी मिली है कि पाकिस्तान ने अब सऊदी अरब से कर्ज मांगा है। 
इमरान खान सरकार को 3 साल पूरे होने वाले हैं लेकिन उनकी सरकार पर बना आर्थिक संकट समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है। आपको बता दें कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान पर इतना ज्यादा कर्ज है कि उन्हें सऊदी अरब के बैंक से 4.5 अरब डॉलर का कर्ज लेना पड़ रहा है। आपको बता दें कि पाकिस्तान ने सऊदी अरब इस्‍लामिक डेवलेपमेंट बैंक के साथ करार किया है। ऐसे में पाकिस्तान कर्ज लिए हुए पैसों से अगले तीन साल में क्रूड ऑयल, रिफाइंड पेट्रोलियम प्रोडेक्‍ट्स, एलएनजी और इंडस्ट्रियल केमिकल यूरिया की कीमत अदा करेंगे।
पाकिस्तान पर लगातार बढ़ रहे कर्ज को लेकर विपक्षी पार्टियां इमरान खान सरकार को घेरती रहती है। आर्थिक स्थिति से बदहाल पाकिस्तान में बिजली संकट भी है। नागरिकों को पर्याप्त बिजली इस्तेमाल के लिए नहीं मिलती है। ऊपर है महंगाई तेजी से बढ़ती जा रही है। 
मार्च 2021 में सामने आई एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान पर तकरीबन 45 ट्रिलियन रुपए का कर्ज है। यह खुलासा सेंट्रल बैंक ऑफ पाकिस्तान ने किया था। अगर इसे आबादी के हिसाब से बांट दिया जाए तो 21.66 करोड़ नागरिकों वाले देश में हर एक नागरिक के हिस्से में 1.75 लाख रुपए कर्ज के तौर पर आएगा। पाकिस्तानी अखबार ने एक रिपोर्ट भी छापी थी। जिसमें बताया गया था कि इमरान सरकार के कार्यकाल में 46 फीसदी कर्ज बढ़ गया। हालांकि पहले भी पाकिस्तान के हालात कुछ अच्छे नहीं थे लेकिन अब तो और भी ज्यादा बदतर हो गए हैं।