दलित युवक की पेड़ से लटकाकर बेरहमी से पिटाई, वीडियो वायरल हुआ तो केस दर्ज


भीलवाड़ा। राजस्थान के भीलवाड़ा जिले में बकरी चोरी के आरोपी एक दलित युवक को पेड़ से बांधकर बेरहमी से पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। यह वीडियो मांडलगढ़ थाना क्षेत्र के मोहनपुरा गांव का बताया गया है। जहां 10 दिन पहले एक व्यक्ति की बकरी चोरी हो गई थी। बेरहमी से हुई पिटाई के बीच दलित युवक दर्द के मारे चीख-चीख कर कह रहा था कि 'मैंने नहीं चुराई बकरी' लेकिन उसकी चीख शोर में दब कर रह गयी और वो पिटता रहा।
वायरल वीडियो के बारे में मांडलगढ़ के पुलिस उप अधीक्षक ज्ञानेंद्र सिंह ने कहा कि पिटाई से पीड़ित युवक की पहचान मांडलगढ़ थाना क्षेत्र के ही मोहनपुरा गांव के रमेश बलाई के रूप में हुई है। पुलिस ने बकरी चोरी के आरोप में दलित युवक रमेश बलाई को पेड़ से बांधकर पीटाई करने वाले युवकों की पहचान कर ली है। आरोपी उसी गांव यानी मोहनपुर हैं, जिनकी पहचान बाबूलाल तेली और बरदी चंद बारेठ के रूप में हुई है।
पुलिस उप अधीक्षक ज्ञानेंद्र सिंह ने कहा कि हमने पिटाई करने वाले बाबूलाल तेली और बरदी चंद बारेठ के खिलाफ मांडलगढ़ पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज कर लिया है और आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस दल रवाना किया है। सबसे बड़ा सवाल यह है कि आजादी के इतने वर्षों बाद भी एक बकरी चोरी के आरोप में दलित युवक को गांव में सरेआम पेड़ से बांध कर पीटना उचित है? क्या गांव में आज भी लोगों को कानून हाथ में लेने पर कोई डर नहीं है?