एसटीएफ और पुलिस के संयुक्त अभियान में दो लाख का इनामी डकैत बावारिया ढेर


  • मथुरा, अलीगढ़ और हरियाणा में कई वारदातों को दिया अंजाब
  • दोनों राज्यों में पुलिस ने घोषित किया था दो लाख का इलाज
  • नोएडा में वारदात को अंजाम देने आया था अजय कालिया
  • पुलिस और यूपीएसटीएफ की टीमें ने किया एनकाउंटर
नोएडा ब्यूरो। नोएडा में एसटीएफ की टीम और बदमाशों के बीच बुधवार को मुठभेड़ हुई। दोनों ओर से ताबड़तोड़ गोलियां चलीं। इस मुठभेड़ में एक बदमाश को गोली लगी। उसे अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने बताया कि मारा गया बदमाश दो लाख रुपये का इनामी अजय कालिया था। वह 13 मामलों में वांछित था।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि एसटीएफऔर नोयडा पुलिस के जॉइंट आपरेशन में बड़ी कामयाबी मिली। जानकारी मिली थी कि बदमाश किसी वारदात को अंजाम देने के लिए नोएडा आने वाला है। जिसकी भनक लगने पर पुलिस और एसटीएफ ऐक्टिव हो गई।
जवाबी कार्रवाई में हुआ ढेर
नोएडा के सेक्टर-15 के पास यूपी एसटीएफ ने इनामी बदमाश अजय कालिया की घेराबंदी की। खुद को घिरता देखकर अजय ने टीम पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस और एसटीएफ ने भी जवाबी फायरिंग की। इस कार्रवाई में अजय कालिया को गोली लगी।
पुलिस ने बताया कि अजय कालिया हाइवे पर लूट, डकैती और दुष्कर्म करने वाले घुमन्तु जनजातियों के सक्रिय गैंग में शामिल था। वह मूलता रेवारी, हरियाणा का रहने वाला था। वह लूट, डकैती के साथ दुष्कर्म के कई मामलों में मथुरा, अलीगढ़, बदायूं और पलवल, हरियाणा पुलिस का वॉन्टेड बदमाश था।
14 साल के बच्चे से किया था दुष्कर्म
अजय ने ही अपने साथियों के साथ केएमपी रोड, पलवल पर गाड़ी पंक्चर करके सवारियों से लूटपाट की और एक 14 साल के बालक के साथ दुष्कर्म किया था। उसके ऊपर हरियाणा के पलवल में 50 हजार रुपये का इनाम, अलीगढ़ में 50 हजार, एक लाख रुपये का मथुरा, बंदायू में 25 हजार का इनाम था। कालिया के पास से पुलिस ने तमंचा, भारी मात्रा में कारतूस और एक बाइक बरामद की है।