बेटी के साथ आधी रात में युवक को देख आगबबूला हुआ पिता, पहले डंडे-बेल्ट से पीटा, फिर कैंची से वार कर की हत्या


  • करावल नगर में हुई हॉरर किलिंग के केस को पुलिस ने सॉल्व कर लिया
  • उस लड़की के पिता को गिरफ्तार किया गया है, जिसका मृतक से अफेयर था
  • पहले डंडे-बेल्ट से पिटाई की, फिर कैंची से बॉडी पर ताबड़तोड़ वार किए
सुनील कुमार शर्मा,(दिल्ली)। नॉर्थ-ईस्ट जिले के करावल नगर में हुई हॉरर किलिंग के केस को पुलिस ने सॉल्व कर लिया है। इस मामले में उस लड़की के पिता को गिरफ्तार किया गया है, जिसका मृतक से अफेयर था। तफ्तीश में खुलासा हुआ कि 7-8 जुलाई की दरम्यानी रात को मृतक दीपक (22) लड़की के घर गया था। दोनों को लड़की के पिता ने देख लिया और डंडे-बेल्ट से पिटाई की। कैंची से बॉडी पर कई वार किए। इसके बाद जानकार के साथ बॉडी को फेंक दिया गया। पुलिस ने आरोपी सत्यवीर सिंह (46) को गिरफ्तार कर लिया है। उसके मददगार अनुज की तलाश की जा रही है।
डीसीपी (नॉर्थ-ईस्ट) संजय कुमार सैन ने बताया कि करावल नगर स्थित वर्ल्ड जिम के पास 8 जुलाई को एक बॉडी पड़ी होने की कॉल मिली थी। डेडबॉडी में कई चोट के निशान थे, जिसे तुरंत जगप्रवेश चंद्र अस्पताल भेजा गया। करावल नगर थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की गई। कड़ी मशक्कत के बाद मृतक की पहचान यूपी के बागपत जिला स्थित बुद्धसैनी गांव के दीपक (22) के तौर हुई। तफ्तीश में पता चला कि दीपक करावल नगर एक्सटेंशन में रहने वाले अपने चाचा के घर 2 जुलाई को आया था।
इसी इलाके में रहने वाली एक लड़की से उसका अफेयर चल रहा था। वह 7-8 जुलाई की दरम्यानी रात को लड़की के घर चला गया। लड़की के पिता सत्यवीर को उसकी मौजूदगी का पता चल गया, जिसने दोनों को रंगे हाथ पकड़ लिया। वह पहले भी कई बार दोनों के रिश्ते को लेकर आपत्ति जता चुका था। इसलिए आधी रात को घर में दीपक की मौजूदगी को देख वह आगबबूला हो गया। दीपक को बांधकर डंडे से तब तक पिटाई की, जब तक वह बेहोश नहीं हो गए। पुलिस से सत्यवीर से पूछताछ की तो उसने गुनाह कबूल कर लिया।
पूछताछ में उसने बताया कि दीपक पर हमला करने के बाद उसने बॉडी में कैंची से कई वार किए थे। मौत के बाद वह बुरी तरह घबरा गया। सादतपुर की हरिजन बस्ती में रहने वाले अपने जानकार अनुज को बुलाया। इसकी मदद से बॉडी को करावल नगर स्थित वर्ल्ड जिम के करीब फेंक दिया। पुलिस ने सत्यवीर की निशानदेही पर वारदात में इस्तेमाल डंडा, बेल्ट और कैंची को बरामद कर लिया। अनुज फरार है। सत्यवीर 12वीं पास है, जो स्कूल बैग सिलने का काम करता है। उसके तीन बच्चे हैं। पहली बार किसी वारदात में उसका नाम आया है।