बेटे ने संपति के लालच में पैसे देकर कराई पिता की हत्या, पुलिस ने किया खुलासा


मेरठ,(उत्तर प्रदेश)। मेरठ के थाना टी पी नगर में हॉस्पिटल मालिक की गोलियां बरसाकर हत्याकांड का पुलिस ने आज सनसनीखेज खुलासा किया है। कातिल कोई और नहीं बल्कि मृतक यशपाल चौधरी का बेटा ही निकला। संपत्ति के लालच में बेटे ने भाड़े के शूटरों को हायर कर पिता की गोलियां बरसाकर करवाई थी। पुलिस ने हत्याकांड का खुलासा करते हुए बेटे शूटर और एक अन्य को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों से घटना में प्रयुक्त बाइक कपड़े और पिस्टल बरामद की है। पुलिस को ये सफलता सीसीटीवी के आधार पर मिली है।
मेरठ के थाना टी पी नगर में 30 जून की रात को यशपाल चौधरी अपने धर्म कांटे पर सो रहे थे, तभी अज्ञात बदमाशों ने सो रहे यशपाल की गोलियां बरसाकर हत्या कर दी थी। पुलिस को इस पूरे मामले में एक सीसीटीवी हाथ लगी थी जिसके आधार पर पुलिस ने अपनी जांच शुरू की।
पुलिस को जांच पड़ताल में पता लगा के मृतक यशपाल का बेटा नरेंद्र अपने बाप के सबसे ज्यादा करीबी है लेकिन गुस्से में यशपाल नरेंद्र को दी हुई संपत्ति और पैसे वापस लेने की धमकी दिया करते थे। ये डर नरेंद्र को सताता था नरेंद्र ने मुनव्वर अली से संपर्क कर एक नूर आलम नाम का शूटर हायर किया। यह शूटर पहले से ही कर्ज में डूबा हुआ था।
शूटर से हत्या की कीमत ₹50000 और उसका कर्जा उतारना तय हुआ,और षड्यंत्रकारी बेटे नरेंद्र ने शूटरो को अपने बाप की लॉकेशन और सोने का वक्त बताया जिसके बाद शूटर ने धर्म कांटे पर पहुंचकर यशपाल की गोलियां बरसाकर हत्या कर दी।
हत्याकांड के खुलासे पर मेरठ एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि बेटा नरेंद्र यशपाल से ज्यादा संपत्ति लेना चाहता था और हॉस्पिटल भी खुद ही चलाना चाहता था। इसी लालच में उसने अपने बाप की भाड़े के शूटरों को सुपारी देकर हत्या कराई है। पुलिस ने इसमें तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया है और उन्हें जेल भेज दिया गया है।