जनपद में दुर्घटनाओं में जनहानि रोकने के उद्देश्य से जिलाधिकारी गाजियाबाद ने दिये आवश्यक दिशा निर्देश


गाजियाबाद। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने कलेक्ट्रेट के महात्मा गांधी सभागार में जिला सड़क सुरक्षा समिति एवं जिला विद्यालय यान परिवहन सुरक्षा समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुये कहा कि सड़क दुर्घटनाओं को कम करने एवं सड़क दुर्घटनाओं में मृत्यु दर कम करने के उद्देश्य से जन सामान्य को यातायात नियमों का अधिक से अधिक पालन सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से सड़क सुरक्षा बहुत ही महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। उन्होंने कहा कि सभी वाहन चालक अपने-अपने वाहन चलाते हुए शत प्रतिशत रुप से यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित करेंगे तो निश्चित रूप से सड़क दुर्घटनाओं को कम करने के साथ-साथ सड़क दुर्घटनाओं में मृत्यु दर में भी कमी आ सकेगी। जिलाधिकारी ने बैठक में समीक्षा करते हुये कहा कि जनपद में प्रदूषण जाॅच केन्द्रों का औचक निरीक्षण समय-समय पर सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों के द्वारा किया जाना सुनिश्चित किया जायें साथ ही जनपद में चिन्हित ब्लैक स्पाॅट के सम्बन्ध में निर्देशित करते हुये कहा कि जनपद में ब्लैक स्पाॅटो का निस्तारण कार्य समय रहते पूर्ण करने की कार्यवाही अमल में लायी जायें। उन्होंने जनपद में दुर्घटना बाहुल्य वलनरेबल स्पाॅट्स के रूप में चिन्हित स्थानों की समीक्षा करते हुये कहा कि उक्त स्थानों पर आवश्यक सुधार एवं यातायात पुलिस कर्मियों की पर्याप्त व्यवस्था आदि सम्बन्धित अधिकारियों के द्वारा करायी जानी सुनिश्चित करें, ताकि जनपद में होने वाली दुर्घटनाओं में कमी लायी जा सकें। उन्होंने इस अवसर पर निर्देशित करते हुए कहा कि अवैध पार्किंग, आवेरस्पीड करने वाले वाहनों के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही करते हुये उनके चालान काटे जाने की कार्यवाही सुनिश्चित की जायें, ताकि जनपद की यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ बनाया जा सके और और किसी के भी द्वारा यातायात नियमोें का उल्लघन न किया जा सकें। समीक्षा में जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को आह्वान करते हुए कहा कि जनपद में यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से सरकार के इस महत्वाकांक्षी कार्यक्रम सड़क सुरक्षा को बहुत ही गहनता के साथ सभी विभागीय अधिकारियों द्वारा आपसी सामंजस्य स्थापित करते हुए कार्यक्रम सुनिश्चित कराए जाएं ताकि जनपद के सभी वाहन चालक यातायात नियमों का पालन सुनिश्चित करने के उद्देश्य से जागरूक बन सके। बैठक में जिलाधिकारी ने जिले में सड़क सुरक्षा गतिविधियों की निगरानी, सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़ों की निगरानी, प्रोटोकॉल के अनुसार ब्लैक स्पॉटों की पहचान व उनके सुधार से संबंधित कार्य, दुर्घटना के कारणों की पहचान व सभी सड़क अभियांत्रिकी उपायों की समीक्षा, निगरानी करना एवं सड़क सुरक्षा मानकों का क्रियान्वयन सुनिश्चित कराना, 4 ई के कार्यक्रम जिसमें एनफोर्समेंट, एजुकेशन, इमरजेंसी सर्विसेज एवं इंजीनियरिंग के क्रियान्वयन पर विचार विमर्श तथा उसको सुदृढ़ करना, गति सीमा और यातायात सुगम करने वाले उपायों पर समीक्षा, जिले में नेक आदमी को प्रेरित करने के लिए कार्य नीतियां तैयार करना, जिले में नगर/शहर में यातायात पार्क-सह-प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना एवं जिले में सड़क सुरक्षा अभियान को प्रोत्साहित करने पर समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारीगण को आवश्यक दिशा निर्देश प्रदान किए ताकि सड़क दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सके। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ट्रैफिक रामानंद कुशवाहा, ए0आर0टी0ओ0 राघवेंद्र सिंह, जी0डी0ए0, नगर निगम, एन0एच0ए0आई0, पी0डब्ल्यू0डी0 सहित संबंधित विभागीय अधिकारीगण एवं ट्रांसपोर्ट अध्यक्ष कमलेश कुमार कौशिक उपस्थित रहे।