पति की प्रताड़ना से परेशान गर्भवती महिला ने की आत्महत्या की कोशिश, जांबाज सिपाहियों ने बचाई जान


नोएडा ब्यूरो। नोएडा में एक गर्भवती महिला ने आत्महत्या की कोशिश की। कथित तौर पर पति की प्रताड़ना से परेशान होकर महिला ने यह कदम उठाया। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस की टीम में से दो बहादुर सिपाहियों ने महिला की जान बचाई। दोनों सिपाहियों को अधिकारियों ने सम्मानित करने का ऐलान किया है। वहीं महिला को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
जानकारी के अनुसार, जीटी रोड पहुंची महिला ने अचानक कोट गांव स्थित नहर में छलांग लगा दी। आस-पास से गुजर रहे लोगों ने महिला को छलांग लगाते हुए देखकर तत्काल 112 नंबर पर कॉल कर मामले की सूचना पुलिस को दी। मौके से कुछ ही दूरी पर तैनात पीआरवी 1869 घटनास्थल पर पहुंची। पीआरवी पर तैनात मेरठ के परीक्षितगढ़ के जटोला गांव निवासी जाविर अली और मेरठ के किशोरपुर निवासी पवन कुमार ने अपनी जान की बगैर परवाह किए नहर में कूद गए।
बताया गया कि पानी का बहाव अधिक था। यहां उन्होंने बहादुरी का परिचय देते हुए महिला को नहर से बाहर निकाल लिया। महिला को उपचार के लिए दादरी के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालत को गंभीर देखते हुए जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जारचा के सैथली गांव निवासी अनीश की लगभग दस साल पहले समाउद्दीपुर गांव निवासी फिरदोश के शादी हुई थी। उसे एक 6 साल का बेटा भी है।
बताया गया कि महिला गभवर्ती है और उसका पति शराबी है। आरोप है कि अनीश उसके साथ आए दिन शराब के नशे में मारपीट करता है। शराबी पति ने गुरुवार को भी उसे शराब के लिए 200 रुपये मांगे थे। न देने पर मारपीट कर उसे घर से बाहर निकाल दिया। पीड़िता ऑटो में सवार होकर कोट नहर के पास पहुंच गई और आत्महत्या का प्रयास किया। एडीसीपी विशाल पांडे ने बताया कि महिला की जान बचाने वाले दोनों पुलिसकर्मियों को प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मानित किया जाएगा।