कलाकारी को सलामः खराब टायर व ट्यूब से कर डाला 10 फुट ऊंची प्रतिमा का निर्माण


मुजफ्फरनगर। 'कौन कहता है कि आसमां में सुराख नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारो’ ऐसा ही एक पत्थर मुजफ्फरनगर के श्रीराम कालेज के छात्रों ने उछाला, तो ऐसा कुछ कर दिखाया, जिसे देखकर लोग हतप्रभ रह गये। छात्रों ने कूड़ा प्रबन्धन की बेजोड़ मिसाल पेश करते हुए दो माह की मशक्कत के बाद खराब टायर व ट्यूब का इस्तेमाल करते हुए ’कोरोना योद्धा’ की थीम पर एक 10 फुट ऊंची प्रतिमा का निर्माण कर डाला।
श्रीराम कालेज के ललित कला विभाग के विशाल, सरन और अविनाश द्वारा आर्ट में नये-नये प्रयोग करने की सोचते रहते हैं। पिछले दिनों कोरोना से लड़ रहे कोरोना योद्धा की थीम को ध्यान में रखते हुए उन्होंने इसे अपनी आर्ट में शामिल करने का निर्णय लिया। दोनों छात्रों के सामने चुनौती थी कि कोरोना योद्धा की जो आर्ट तैयार की जाये वह अपने आपमें मिसाल होनी चाहिए। दोनों छात्रों ने इस आर्ट में कूड़ा प्रबन्धन को ध्यान में रखते हुए इसका निर्माण खराब टायर व ट्यूब का इस्तेमाल करने का निर्णय लिया। दो महीने की कड़ी मशक्कत के बाद छात्र अपने प्रयोग में सफल रहे और उन्होंने एक ऐसी आर्ट बना डाली, जिसे देखकर लोगों के मुंह से वाह निकल गया। छात्रों ने दस फुट ऊंची कोरोना योद्धा की मूर्ति बनाई है, जिसे बाकायदा तलवार भी थमाई गई है। इस मूर्ति को ऐसा रंग रूप दिया गया है कि कोई भी देखकर यह अंदाजा नहीं लगा सकता कि यह वेस्ट मैनेजमेंट का एक नमूना है।
श्रीराम गर्ल्स कॉलेज के निदेशक डा. मनोज धीमान ने बताया कि ललित कला विभाग के विशाल, सरन और अविनाश द्वारा करोना योद्धा थीम पर एक 10 फीट ऊची मूर्ति का निर्माण किया। मूर्ति के निर्माण में 800 खराब टायर और 300 टायर टयूब का प्रयोग किया गया साथ ही लोहे के पाइपो का प्रयोग मूर्ति को आकार देने में किया गया। उन्होंने बतााया कि मूर्ति को आकार देने में दोनों ही विद्यार्थियों को दो माह से अधिक का समय लगा है।
श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेज के चेयरमैन डा. एससी कुलश्रेष्ठ ने मूर्ति निर्माण करने वाले दोनों छात्रों के कला कौशल एवं मेहनत की खूब सराहना करते हुए उन्हें नकद राशि देकर पुरस्कृत किया। उन्होने कहा कि छात्रों ने कचरा प्रबंधन का सही उदाहरण प्रस्तुत करते हुये 10 फीट ऊची आकृषित मूर्ति का निर्माण कर अपने ज्ञान और कला कौशल का प्रदर्शन किया है, जिसके लिये दोनों छात्र बधाई का पात्र हंै । श्रीराम कॉलेज के ललित कला विभाग की विभागाध्यक्ष रूपल मलिक प्रवक्ता रजनीकांत, बीनू पुण्डीर, अन्नू, रीना त्यागी, रूबी चैधरी, मयंक सैनी ने विद्यार्थियो की कडी मेहनत को देखकर आर्शीवाद स्वरूप सराहना की है।