डासना मंदिर में सो रहे साधु पर जानलेवा हमला, 2 सिपाही निलंबित, घटना के वक्त 22 पुलिसवाले मंदिर में थे मौजूद


गाजियाबाद ब्यूरो। गाजियाबाद के डासना स्थित देवी मंदिर पर सो रहे साधु पर जानलेवा हमले के बाद एसएससी ने दो पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है। वहीं, दूसरी तरफ इस घटना के बाद से तमाम हिंदू संगठनों में भारी रोष है। इस घटना की घोर निंदा करते हुए बुधवार को परमार्थ समिति के बैनर तले लोगों ने जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर अपने हाथों में चिमटा, घड़ियाल लेकर और शंख बजाकर अनोखे ढंग से विरोध जताया। साथ ही जल्द से जल्द हमलावरों को गिरफ्तार कर मंदिर की अतिरिक्त सुरक्षा बढ़ाए जाने के लिए जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया।
महाराज पर जानलेवा हमले के बाद हिंदू संगठन में रोष
मूल रूप से बिहार के दरभंगा के रहने वाले नरेशानंद महाराज अक्सर डासना स्थित देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद सरस्वती महाराज के पास आते-रहते हैं। वह गाजियाबाद किसी के कार्यक्रम में आए थे। मंगलवार को नरेशानंद महाराज देवी मंदिर में ही सो रहे थे। बुधवार तड़के करीब 3:35 बजे कुछ हमलावरों ने उनके ऊपर चाकू से वार कर जानलेवा हमला कर दिया, जबकि मंदिर परिसर में मंदिर के अन्य सेवादार और 2 पुलिसकर्मी भी सुरक्षा में तैनात रहते हैं। इसकी सूचना थाना मसूरी पुलिस को मिली तो मौके पर पहुंचकर पुलिस ने लहूलुहान हालत में साधु को अस्पताल में भर्ती कराया। जहां साधु की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। उधर पुलिस की विशेष टीम कई एंगल पर जांच कर हमलावरों की तलाश में जुटी हुई है।
लापरवाही के आरोप में दो सिपाही निलंबित
मंदिर में जिस जगह हमला हुआ, उसके पास ही पुलिस की गारद लगी है। इस पर चार पुलिसवाले तैनात हैं। इनके बारे में एसपी देहात ने रिपोर्ट एसएसपी को भेज दी है। मंगलवार को मंदिर पर सो रहे साधु पर जानलेवा हमला होने के मामले में दोनों पुलिसकर्मियों की लापरवाही सामने आई है। जिन्हें एसएसपी अमित पाठक ने दोनों सिपाहियों को निलंबित कर दिया है। अन्य 18 पुलिसवाले मंदिर परिसर में ही मौजूद थे। यह भी मालूम किया जा रहा है कि वे जाग रहे थे या सोए हुए थे? अगर जाग रहे होते तो हमलावरों का पता चल जाता।  किस स्तर पर लापरवाही हुई है, उसकी भी जांच कराई जा रही है। बदमाशों के बारे में पता लगाया जा रहा है। -अमित पाठक, एसएसपी


Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर