सिर के आरपार हुआ 20 फुट का सरिया, गाजियाबाद के डॉक्टरों ने 4 घंटे के ऑपरेशन के बाद बचाई जान


गाजियाबाद ब्यूरो। कहते हैं कि जाको राखे साइयां, मार सके न कोय। लेकिन, ऐसी स्थिति में कई बार डॉक्टर जो करते हैं, वो किसी चमत्कार से कम नहीं होता। ऐसा ही एक मामला विजय नगर में आया है। एक मजदूर के सिर से 20 फुट का सरिया आर-पार हो गया। डॉक्टरों ने 4 घंटे तक लगातार सर्जरी की और मरीज की जान बचा ली। 24 वर्षीय रमेश कुमार (बदला नाम) प्रताप विहार में एक निर्माणाधीन साइट पर काम कर रहे थे। दूसरे मजदूर इमारत की 20वीं मंजिल की छत खोल रहे थे। रमेश उसी वक्त वहां से गुजर रहे थे। तभी 20 फुट लंबा सरिया उनकी तरफ गिर गया।
बाकी मजदूर बचने के लिए शोर मचा रहे थे, लेकिन रमेश जब तक संभलते सरिया उनके सिर को छेंद करते हुए दूसरी तरफ निकल गया। फिर लोग रमेश के पास दौड़े और सरिया को दोनों तरफ से काटकर छोटा किया। इसके बाद उन्होंने फ्लोरेंस अस्पताल ले जाया गया।
सीनियर डॉक्टर डॉ. एमके सिंह और डॉ. गौरव गुप्ता ने बताया कि जब रमेश को अस्पताल लाया गया, तब उनकी हालत ठीक नहीं थी। सिर में 12 एमएम का सरिया फंसा था, जो सिर के आगे-पीछे से दिखाई दे रहा था।
कुछ जरूरी जांच कराई गई और अस्पताल के न्यूरोसर्जन डॉ. अभिनव गुप्ता और डॉ. गौरव गुप्ता ने सरिये को निकालने की तैयारी शुरू की। डॉ. अभिनव गुप्ता ने कहा कि उनके 20 साल के न्यूरो सर्जरी के करियर में यह अपनी तरह का पहला मामला था। 4 घंटे तक चली सर्जरी काफी चुनौतीपूर्ण थी।
सबसे पहले सरिये को हड्डी से अलग करने के लिए खोपड़ी का आधा भाग खोलना पड़ा। बड़ी चुनौती मस्तिष्क से लोहे की छड़ को बिना कोई और नुकसान पहुंचाए निकालना था, जो सफलतापूर्वक कर लिया गया। पेट की त्वचा का भी इसमें इस्तेमाल किया गया। रमेश की हालत में अब सुधार है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर