पुलिस से बचने के लिए कार पर लिखवाया 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ', 2 करोड़ की चरस बरामद


शाहजहांपुर। शाहजहांपुर में बुधवार को दो करोड़ रुपये कीमत की चरस की तस्करी पकड़ी गई है। चरस को कार में छिपाकर तस्करी के लिए ले जाया जा रहा था। पुलिस ने चरस की तस्करी करने वाले दो अंतर्जनपदीय तस्करों को भी गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस अब चरस तस्करी के नेटवर्क का खुलासा करने में जुट गई है।
पुलिस से बचने के लिए लिखवाया स्लोगन
थाना परौर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि कार सवार चरस तस्कर इलाके से गुजरने वाले हैं। सूचना मिलते ही पुलिस की टीम ने अमृतपुर चौराहे को घेर लिया। मुखबिर की सूचना के आधार पर पुलिस ने सफेद रंग की कार को पकड़ लिया। कार की तलाशी लेने पर उसमें रखी 1 किलो 170 ग्राम चरस बरामद हुई, जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत लगभग 2 करोड़ रुपये आंकी गई है। तस्कर बेहद शातिर थे, जिन्होंने पुलिस से बचने के लिए कार पर बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ का स्लोगन लिखवा रखा था। पकड़े गए तस्कर शिव पाल सिंह और प्रेम सिंह से पूछताछ में पता चला कि शाहजहांपुर, बरेली, पीलीभीत, लखीमपुर और हरदोई जिले में महंगे दामों पर चरस की बिक्री कर रहे थे।
चरस तस्करों के नेटवर्क का पता लगाने में जुटी पुलिस
अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजीव कुमार बाजपेई का कहना है कि मुखबिर की सूचना मिलते ही पुलिस टीम ने घेराबंदी करके तस्करों को गिरफ्तार कर लिया था। अब इस बात का पता लगाया जा रहा है कि पकड़े गए चरस तस्कर किन-किन लोगों से चरस खरीदते थे और कहां-कहां इसकी बिक्री करते थे। इस मामले में अभी आगे और कार्रवाई की जाएगी।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर