सहारनपुर में बड़ी संख्या में मेल सेक्स वर्कर एचआईवी पॉजिटिव, बढ़ी डॉक्टरों की चिंता


सहारनपुर। सहारनपुर में करीब 2,300 एचआईवी पॉजिटिव केस पंजीकृत हैं। इनमें से करीब 2,145 का इलाज जिला अस्पताल के एचआईवी सेंटर में किया जा रहा है। पिछले छह माह के दौरान 50 से अधिक सेक्स वर्कर पॉजिटिव पाए गए हैं।
सहारनपुर में मेल सेक्स वर्कर (एमएसडब्ल्यू) की संख्या में इजाफा हुआ है। पिछले करीब छह माह के दौरान हुई जांच में 50 से अधिक मेल सेक्स वर्कर एचआईवी पॉजिटिव मिले हैं। एचआईवी पॉजिटिव मेल सेक्स वर्कर में ज्यादातर शहरी क्षेत्र के हैं। ऐसे में चिकित्सा विभाग को टेंशन इस बात की है कि इनके संपर्क में आने से कितने लोगों को इस रोग ने अपनी चपेट में लिया होगा। चिकित्सकों की सलाह पर ही मेल सेक्स वर्कर जिला अस्पताल स्थित एआरटी सेंटर में एचआईवी जांच के लिए पहुंचे थे। नियमित रूप से बुखार आदि आने जैसी शिकायतों के बाद चिकित्सकों ने उन्हें एचआईवी टेस्ट कराने को कहा था।
नोडल अधिकारी डॉ. केवी सिंह ने बताया कि सहारनपुर के एचआईवी मरीजों में मेल सेक्स वर्कर भी शामिल हैं। डॉ. केवी सिंह का कहना था कि लोगों से अपील है कि अपनी जिंदगी से खिलवाड़ न करें। यदि कोई एचआईवी पॉजिटिव हो जाता है तो परेशान न हो। चिकित्सक से उचित परामर्श के बाद नियमित रूप से दवाई जरूर लें। उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल में संचालित एआरटी सेंटर नि:शुल्क जांच और दवाओं की सुविधा उपलब्ध है। एचआईवी पॉजिटिव मिलने वाले मरीजों को इलाज के साथ ही काउंसलिंग कर नकारात्मकता रोकने के आत्मविश्वास दिलाया जाता है।
नोडल अधिकारी डॉ. केवी सिंह ने बताया कि सेठ बलदेव दास बाजोरिया हॉस्पिटल (ज़िला अस्पताल) के अंदर साल 2013 में एंटी रेट्रोवायरल थेरेपी सेंटर स्थापित किया गया था। 8 साल के दौरान एआरटी (एंटी रेट्रोवायरल थेरेपी) सेंटर में हुई जांच से सैकड़ों लोगों में एचआईवी और एड्स होने का पता चला। नोडल अधिकारी ने बताया कि फिलहाल जिले में करीब 2,280 लोग एचआईवी रजिस्टर्ड हैं। करीब 2,145 लोगों का इलाज एआरटी सेंटर में चल रहा है।