फेसबुक, इंस्‍टा पर करता था लड़कियों से दोस्‍ती, फिर कस्‍टम अफसर बनकर करता था ठगी, नाइजीरियन गिरफ्तार


कानपुर ब्यूरो। कानपुर क्राइम ब्रांच ने एक नाइजीरियन युवक को दिल्ली से अरेस्ट किया है। नाइजीरियन युवक कस्टम अधिकारी बनकर युवतियों से ठगी करता था। युवक पहले फेसबुक और इंस्टाग्राम पर युवतियों से दोस्ती करता था। नाइजीरियन ठग 40 युवतियों को ठगी का शिकार बना चुका है। लगभग 70 से 80 लाख की ठगी करने का मामला प्रकाश में आया है। अनजान युवतियों से दोस्‍ती करने के बाद आरोपी उनके वॉट्सऐप नंबर लेकर चैटिंग करता था। इस जालसाज की जब दोस्ती पक्की हो जाती थी, तो युवती को महंगा गिफ्ट भेजने की झांसा देता था। इसके बाद कस्टम ड्यूटी के नाम पर युवतियों से अपने अकांउट में पैसे डलवाता था।
नवाबगंज थाना क्षेत्र में रहने वाली एक युवती प्राइवेट जॉब करती है। ठगी का शिकार हुई युवती ने नवाबगंज थाने में ठग के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। इस प्रकरण की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई थी। युवती ने पुलिस को बताया था कि इंस्टाग्राम पर उसकी दोस्ती केविन हेरिसन नाम के युवक से हुई थी। केविन हेरिसन ने खुद को यूके का रहने वाला बताया था। इसके बाद हमारी बात फेसबुक और वॉट्सएप चैट के जरिए होने लगी।
पीड़‍िता ने आगे बताया कि केविन हेरिसन ने कई बार मंहगा गिफ्ट भेजने के लिए कहा था। लेकिन मैंने उसे मना कर दिया। लेकिन वहनहीं माना तो मैंने गिफ्ट भेजने के लिए हामी भर दी थी। नाइजीरियन युवक ने कहा कि गिफ्ट मैंने पार्सल कर दिया है।
क्राइम ब्रांच के मुताबिक नाइजीरियन युवक ने ही कस्टम अधिकारी बनकर युवती को फोन किया। युवती से कहा कि आप का बेहद मंहगा और कीमती गिफ्ट आया है। इस गिफ्ट के लिए आप को 23500 रुपए देने होंगे। इस पर युवती ने पेटीएम से उसके खाते में पैसे ट्रांसफर कर दिए। इसके बाद फिर से फोन आया कि गिफ्ट में पैसे भी हैं, इसके लिए आप को मनी लैंडिग प्रमाणपत्र देना होगा, वर्ना मुश्किल में फंस जाओगी। दोबारा उसकी बातों में आकर युवती ने उसके अकांउट पर 65200 रुपए ट्रांसफर कर दिए। इस तरह से कस्टम अधिकारी बनकर युवती से अबतक 404787 रुपए की ठग चुका था।
क्राइम ब्रांच की टीम ने उसके मोबाइल नंबर की लोकेशन की आधार पर नई दिल्ली के महावीर नगर से दबोच लिया। पुलिस की जांच में पता चला कि आरोपी मूलरूप से नाइजीरिया का रहने वाला है। उसका असली नाम ओकुवारिमा मोसिस है। इंस्टाग्राम और फेसबुक के जरिए युवतियों को अपने जाल में फांसता है। अलग-अलग राज्यों में रहने वाली लगभग 40 लोगों को ठगी का शिकार बना चुका है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर