सेना की वर्दी पहन करता था पैसों की उगाही, फर्जी लेफ्टिनेंट पकड़ा गया


अयोध्या। अयोध्‍या की थाना कैंट पुलिस व एसओजी की टीम को सोमवार को एक बड़ी कामयबी हाथ लगी। मिलिटरी इंटेलिजेंस की सूचना पर अयोध्या पुलिस ने एक फर्जी लेफ्टिनेंट को गिरफ्तार किया है। सोमवार को थाना कैंट पुलिस व एसओजी टीम ने शहर के सआदत गंज के पास से इस फर्जी लेफ्टिनेंट को गिरफ्तार किया है।
सेना में नौकरी दिलाने के नाम पर धन उगाही और लड़कियों को प्रभावित करके उनसे संबंध बनाना इसका खास शौक बताया जाता है। यह खुद को लेफ्टिनेंट बताकर अपने शौक पूरे करता था। इसके अलावा लोगों को विश्वास में लेकर धोखाधड़ी करके बेवकूफ बनाकर धन उगाही भी करता था। फर्जी लेफ्टिनेंट सौरभ सिंह उर्फ दीपू मध्यप्रदेश के भिंड जिले का रहने वाला है।
मामले का खुलासा करते हुये एएसपी पलाश बंसल ने बताया कि कई दिनों से इसकी सूचना मिल रही थी। इसी सिलसिले में मिलिटरी इंटेलिजेंस व स्थानीय पुलिस लगातार इसकी तलाश में थी। सोमवार को थाना कैंट व एसओजी की संयुक्त टीम ने मुखबिर की सूचना पर त्वरित कार्रवाई करते हुये सहादतगंज बैरियर के पास से आरोपी सौरभ सिंह उर्फ दीपू ,भवनपुरा थाना फूप, जनपद भिंड, मध्य प्रदेश को गिरफ्तार कर लिया।
एएसपी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी के पास से अवैध रूप से सेना की वर्दी, शर्ट मय बेल्ट, स्टार फ्लैप, बैज, नेम प्लेट, रीबन पैराविंग, जम्प इंडिकेटर, कौम्बेड, फ्री फाइलर बलिदान बैज, स्पेशल फोर्स डोरी बिना सीटी की, ब्लैक जूता, कैप मैरून कलर गोल, एक पर्स, आई कार्ड, कैंटीन स्मार्ट कार्ड, लिक्वर कार्ड, आधार कार्ड एक अदद मोबाइल मय सिम व 1580 रुपये नकद बरामद किए हैं। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर