लाल किले की सुरक्षा के साथ-साथ 'राष्ट्र प्रथम-सदैव प्रथम' का संदेश भी देगी कंटेनर की मीनार


नई दिल्ली। स्वतंत्रता दिवस की 75 वीं वर्षगांठ पर इस बार लाल किला देश दुनिया को संदेश देगा 'राष्ट्र प्रथम-सदैव प्रथम'। लाल किले की तमाम सुरक्षा बंदोबस्त के साथ ही कोविड गाइडलाइंस के हिसाब से भव्य समारोह की तैयारियां लगभग पूरी हो चुकी हैं। पहली बार लाल किले की सुरक्षा में कंटेनर की मीनार खड़ी की गई है। कंटेनर लाल किले को अभेद्य सुरक्षा के साथ ही कई तरह के संदेश भी देंगे। इनमें सबसे खास है कंटेनरों के सबसे ऊपर -राष्ट्र प्रथम, सदैव प्रथम। इसके अलावा कंटेनरों से देश की सांस्कृतिक, वैज्ञानिक, राष्ट्र रक्षा से जुड़ी झलकियां भी पेंटिंग के जरिए नजर आएंगी। इनमें पेंटिंग के जरिए महात्मा गांधी, लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल, भगत सिंह और सुभाष चंद्र बोस की तस्वीरें उकेरी गई हैं।
इन पेंटिंग को इस तरह बनाया गया है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब लाल किले से देश के नाम संबोधन देंगे, इस पेंटिंग को वो फ्रंट से देख पाएंगे। देश और दुनिया को इन तस्वीरों से खास तरह का संकेत और संदेश देने की कोशिश है। वहीं, इन कंटेनरों को बाहर से तिरंगा कलर में पेंट किया जा चुका है। जिसकी भव्यता चांदनी चौक की साइड से देखते ही बनती है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, करीब 1500 इनविटेशन भेजे गए हैं।
लालकिले की सुरक्षा की जिम्मेदरी एनएसजी, एसपीजी, पैरामिलिट्री फोर्स के जवान और दिल्ली पुलिस के हाथ में है। करीब 35 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी उस दिन सुरक्षा में तैनात होंगे। लालकिले के आस-पास इस बार पहले के मुकाबले एंटी ड्रोन सिस्टम की संख्या को बढ़ाकर 9 कर दिया गया है। एनएसजी कमांडों को लालकिले के आस-पास 40 पॉइंट पर तैनात किया जाएगा। लाल किले के आसपास 5 एयर डिफेंस गन को भी तैनात किया गया है। बड़ी इमारतों की छतों पर करीब 450 रूफटॉप बनाए गए हैं, जहां दिल्ली पुलिस का स्टाफ तैनात रहेगा। इनके साथ ही वो पुलिसकर्मी भी तैनात रहेंगे, जिनके हाथों में लाल और सफेद दो रंग के झंडे होंगे। लाल झंडे का इस्तेमाल वो खतरे का अंदेशा होने पर उसको लहराकर खतरे का अलर्ट दे सकता है। वहीं सफेद झंडे का मतलब है, सब ठीक है।

Popular posts from this blog

उत्तर पूर्वी जिला पुलिस ने ऑपरेशन अंकुश के तहत छेनू गैंग के चार बदमाशों को किया गिरफ्तार

जीटीबी एंक्लेव थाने में तैनात दिल्ली पुलिस की महिला एसआई ने लगा ली फांसी, पुलिस ने बचाई जान

रोटरी क्लब इंदिरपुरम परिवार के पूर्व प्रधान सुशील चांडक को ज़ोन २० का बनाया गया असिस्टंट गवर्नर