पति-पत्नी समेत तीन पर धर्मांतरण कराने का आरोप, ग्रामीणों ने बनाया बंधक, पुलिस को सौंपा


वाराणसी। वाराणसी के फूलपुर थाना अंतर्गत करखियाव गांव में धर्मांतरण का एक मामला प्रकाश में आया है। बीती रात हिंदू संगठन से जुड़े हुए नेताओं ने पति-पत्नी समेत 3 लोगों को पकड़कर पुलिस को सौंपा। पुलिस अब मामले की छानबीन कर रही है। वाराणसी के करखियांव गाँव में देर रात हिंदू जागरण मंच के नेताओं ने एक घर से 3 लोगों को पकड़ा जिसमें एक शादीशुदा दंपति भी थे। यह तीनों लोग वाराणसी के ही राजा तालाब और जंसा इलाके के रहने वाले हैं । हिंदू जागरण मंच के नेताओं ने स्थानीय लोगों के सहयोग से इन लोगों को पकड़कर पुलिस के हवाले किया और आरोप लगाया की गरीबी का फायदा उठाकर यह लोग हिंदू धर्म के लोगों का ईसाई धर्म में धर्मांतरण कर रहे हैं। देर रात थाने पर स्थानीय ग्रामीणों के साथ नेताओं ने खूब हंगामा काटा। पकड़े गए तीनों आरोपियों के पास से जो साहित्य मिला उस साहित्य के लिए हिंदू जागरण मंच के प्रदेश मंत्री गौरी सिंह ने बताया कि इनके पास जो साहित्य बरामद हुआ है उसमें हिंदू धर्म के बारे में कई आपत्तिजनक बातें लिखी हुई है और यह दंपति प्रलोभन देकर गरीब हिंदू परिवारों का धर्मांतरण करा रही है।
धर्मांतरण का मामला सामने आते ही स्थानीय प्रशासन के भी हाथ-पांव फूल गए। इस मामले पर जब फूलपुर थाना अध्यक्ष से बात की गई तो उन्होंने बताया कि जिसके घर पर यह तीनों व्यक्ति पकड़े गए हैं उसने धर्मांतरण जैसी किसी भी बात को अस्वीकार कर दिया है। स्थानीय लोग और नेताओं के आरोप की पुष्टि की जा रही है कुल 3 लोग हैं जो राजा तालाब और जंसा इलाके के रहने वाले हैं। इनके पास से दावे के अनुसार जो साहित्य मिला है उसकी जांच की जा रही है। मामले में अभी एफआईआर दर्ज नहीं हुई है।