उत्तर-पूर्वी जिले की नन्द नगरी थाना पुलिस एवं एएटीएस ने सयुंक्त कार्यवाही में दो खूंखार अपराधियों को किया गिरफ्तार


राजीव गौड़,(दिल्ली ब्यूरो)। राजधानी दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले की नंद नगरी थाना पुलिस एवं एटीएस की संयुक्त टीम ने दो शातिर लुटेरों को गिरफ्तार किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार 30 जुलाई दिन शुक्रवार की रात लगभग 11: 50 पर थाना नंद नगरी में एक पीसीआर कॉल प्राप्त हुई। जिसमें शिकायतकर्ता द्वारा तीन अज्ञात मोटरसाइकिल पर आए व्यक्तियों द्वारा सोने के चैन छीनने की घटना के बारे में बताया गया। जिस पर तत्काल नंद नगरी पुलिस द्वारा मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई। इसके अतिरिक्त 31 जुलाई दिन शनिवार को भी दोपहर लगभग 12:15 पर लूट की घटना के संबंध में एक पीसीआर कॉल थाना नंद नगरी को प्राप्त हुई। जिसमें बताया गया कि शिकायतकर्ता के भाई सचिन नाम के व्यक्ति से मोबाइल फोन ,चेन एवं उनकी पत्नी से पर्स और मोबाइल लूट लिया गया। शिकायतकर्ता ने यह भी बताया कि उन्होंने लुटेरों का पीछा किया और वह अपनी मोटरसाइकिल छोड़कर भाग गए। इस पर नंद नगरी थाना पुलिस ने तत्काल मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। लगातार हुई इन लूट की गंभीर घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए नंद नगरी थाना पुलिस ने एएटीएस की टीम का सहयोग लिया एवं सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया। जिसके परिणाम स्वरूप फुटेजे में आरोपी की पहचान अब्दुल करीम उर्फ पप्पू के रूप में की गई एवं एक अन्य आरोपी की पहचान रमजान के रूप में हुई।

 


पुलिस के अथक प्रयासों के कारण 1 अगस्त दिन रविवार को सुबह लगभग 6:30 बजे गुप्त सूचना के आधार पर एक व्यक्ति को कोड़ी कॉलोनी. नंद नगरी के बाहरी इलाके से पकड़ा गया। जिसके पास से एक 9 एमएम पिस्टल के साथ पांच जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए। पकड़े गए आरोपी की पहचान असलम उर्फ नसीर, निवासी न्यू लाइट कॉलोनी, ताहिरपुर, दिल्ली के तौर पर हुई। उसने अपना अपराध कबूल कर लिया और खुलासा किया कि उसने अपने सहयोगी रमजान उर्फ पप्पू के साथ लूट की दोनों घटनाओं को अंजाम दिया है। जांच में यह भी खुलासा हुआ की वह उत्तर प्रदेश के जिला गाजियाबाद से संबंधित थाना साहिबाबाद में दर्ज एक हत्या के मामले में वांछित भी हैं। जानकारी के आधार पर रमजान को भी कोड़ी कॉलोनी से गिरफ्तार कर लिया गया उसके पास से तीन जिंदा कारतूस एवं एक देसी पिस्तौल बरामद हुई। पुलिस सूत्रों ने बताया की लूट के घटना के दौरान जो मोटरसाइकिल आरोपी छोड़कर भाग गए थे उसका रजिस्ट्रेशन नंबर भी फर्जी था एवं मोटरसाइकिल चोरी की पाई गई। नंद नगरी थाना पुलिस एवं एएटीएस की टीम ने सीमित समय के अंदर लूट की घटनाओं का खुलासा कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।