मुंबई में 10 से 19 सितंबर तक धारा 144, गणपति जुलूस की भी इजाजत नहीं, पंडालों में नहीं जा सकेंगे श्रद्धालु


मुंबई ब्यूरो। एक बार फिर से मुंबई वासियों के लिए गणेश चतुर्थी का उत्साह फीका होने वाला है। दरअसल, कोरोनावायरस की वर्तमान स्थिति के मद्देनजर मुंबई में 10 सितंबर से लेकर 19 सितंबर के बीच गणेश उत्सव के दौरान धारा 144 लागू रहेगा। इसी के साथ एक अधिकारिक बयान में यह भी कहा गया है कि इस दौरान शहर में किसी भी प्रकार का जुलूस निकालने की अनुमति नहीं दी जाएगी। साथ ही साथ श्रद्धालुओं को गणेश पंडालों में भी जाने की इजाजत नहीं होगी।
मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने लोगों से घर पर ही गणेश चतुर्दशी मनाने की अपील की है। उन्होंने लोगों से कहा कि मैं मुंबई की मेयर होते हुए भी 'मेरा घर-मेरा बप्पा' को फॉलो करने जा रही हूं। उन्होंने कहा कि मैं कहीं भी नहीं जाऊंगी और ना ही किसी को अपने भगवान के पास लाऊंगी। कोरोना की तीसरी लहर को रोकने के लिए यह काफी महत्वपूर्ण है।
आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने भी महाराष्ट्र सरकार को त्योहारों के मद्देनजर प्रतिबंधों को लागू करने की सलाह दी थी। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुख्य सचिव ने महाराष्ट्र के मुख्य सचिव को लिखे पत्र में कहा था कि आगामी त्यौहारों के दौरान सार्वजनिक कार्यक्रमों तथा लोगों के इकट्ठा होने के मद्देनजर राज्य सरकार स्थानीय तौर पर पाबंदी लगाए। इसके बाद हमने देखा कि किस तरह से जन्माष्टमी के दौरान भी यह पाबंदी या महाराष्ट्र में लागू है। हालांकि गणेश चतुर्थी से पहले बड़ी संख्या में लोग मुंबई की दादर मार्केट में खरीदारी करने पहुंचे।