दिल्ली में एक अक्तूबर से निजी दुकानों पर नहीं बिकेगी शराब, 17 नवंबर से लागू होगी नई आबकारी नीति


दिल्ली ब्यूरो। राष्ट्रीय राजधानी में रहने वाले सुराप्रेमियों को एक अक्तूबर से थोड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ेगा। दिल्ली सरकार प्रदेश में नई आबकारी नीति ला रही है। इसके तहत एक अक्तूबर से दिल्ली में शराब की सभी निजी दुकानें बंद होंगी। यह संख्या करीब 40 फीसदी है। ये दुकानें नई आबकारी नीति के तहत 46 दिन बाद 17 नवंबर से खुलेंगी। एक अक्तूबर से 16 नवंबर तक सिर्फ सरकारी दुकानें खुलेंगी। इससे प्रदेश में शराब की किल्लत और सीमा से लगे अन्य राज्यों से शराब तस्करी और अवैध कारोबार बढ़ सकता है। इस पर लगाम लगाने के लिए आबकारी विभाग ने निगरानी बढ़ाने का निर्देश दिया है।
दिल्ली में शराब की 720 सक्रिय दुकानें है। इसमें 260 दुकानें (40 फीसद) निजी हैं। नई आबकारी नीति के तहत दिल्ली राज्य को 32 जोन में बांटा गया है। लाइसेंस का आवंटन हो चुका है। शराब की किल्लत ना हो, इसके लिए नई दुकानें खुलने तक सरकारी दुकानें चलती रहेंगी।
आबकारी विभाग ने एक अक्तूबर से 16 नवंबर तक सभी सरकारी दुकानों पर शराब की पर्याप्त आपूर्ति करने के निर्देश भी दे दिए हैं। निजी दुकानें बंद होने के बाद राजधानी के 272 वार्ड में से 106 वार्ड में एक भी शराब की दुकान नहीं बचेगी।
हरियाणा और यूपी की सीमा पर रहेगी नजर
आबकारी विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि हरियाणा व यूपी जैसे सीमावर्ती इलाकों में निगरानी बढ़ाने का निर्देश दिया गया है। विभाग की टीम को अलर्ट कर दिया गया है।