फिल्मों में पैसा लगवाने के नाम पर 2 करोड़ से ज्यादा की ठगी वाला गिरफ्तार


नई दिल्ली। फिल्मों में इनवेस्ट कराने का झांसा देकर लोगों से 2 करोड़ से ज्यादा की रकम ऐंठने वाली कंपनी के डायरेक्टर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसकी शिनाख्त उदित ओबरॉय (36) के तौर पर हुई है। यह गाजियाबाद के राज नगर एक्सटेंशन का रहने वाला है। आर्थिक अपराध शाखा का दावा है कि आरोपी के खिलाफ 33 लोगों ने शिकायत दी थी। जांच के दौरान पीड़ितों की तादाद बढ़ने की आशंका है। इसके खिलाफ सरिता विहार थाने में भी ठगी का एक केस दर्ज है।
अडिशनल कमिश्नर ने बताया कि मैसर्स स्वैग प्रॉडक्शंस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी फिल्म प्रोजेक्ट में पैसा लगाने पर मोटा मुनाफे का झांसा देती थी। शुरुआत में कंपनी की तरफ से पैसा लौटाया भी गया, जिसे बाद में बंद कर दिया गया। पीड़ितों ने पता किया तो मालूम हुआ कि कंपनी ने लोगों को झांसा देने के लिए फिल्मों का फर्जी ट्रेलर लॉन्च किया था। वह निवेशकों से आने वाले पैसे का निजी इस्तेमाल कर रहे थे। पुलिस ने 13 नवंबर 2020 को मामला दर्ज किया तो उदित ओबरॉय पुलिस को नहीं मिल सका। वह कंपनी को बंद करने के बाद फरार था।
तफ्तीश के दौरान पता चला कि फिल्म प्रॉडक्शन में इनवेस्ट कर आकर्षक रिटर्न का झांसा देकर ठगने के इरादे से कथित कंपनी बनाई गई। आरोपी उदित ओबरॉय कंपनी का 50% शेयर होल्डर है। शुरुआत में पीड़ितों को किश्तों में पैसा वापस मिला, लेकिन बाद में रोक दिया गया। कथित तौर पर खाते में रकम की हेराफेरी की गई। इनके झांसे में निम्न और मध्यम वर्ग के लोग आए। एसीपी कपिल पाराशर की देखरेख में बनी एसआई जसबीर सिंह और एएसआई विनोद की टीम ने आरोपी उदित ओबरॉय को मुंबई से गिरफ्तार कर लिया, जो अर्मेनिया भागने की तैयारी कर रहा था।