जगद्गुरु परमहंस ने दी चेतावनी, भारत को 2 अक्‍टूबर तक हिंदू राष्ट्र घोषित करें,नहीं तो ले लूंगा जल समाधि


अयोध्या। यूपी के अयोध्‍या में भगवान श्रीराम के भव्‍य मंद‍िर के न‍िर्माण का कार्य जोरों पर है। ऐसे में अयोध्या के जगद्गुरु परमहंस आचार्य महाराज ने केंद्र सरकार के सामने अजीबोगरीब ड‍िमांड रखी है। उन्होंने भारत को 'हिंदू राष्‍ट्र' घोषित करने की मांग की है। जगद्गुरु परमहंस आचार्य महाराज ने कहा क‍ि मेरी मांग है कि 2 अक्टूबर तक भारत को 'हिंदू राष्ट्र' घोषित कर दिया जाए वरना सरयू नदी में जल समाधि ले लूंगा।
अयोध्‍या के तपस्‍वी छावनी के जगदगुरु परमहंस आचार्य महाराज ने इसके साथ ही एक और विवादास्‍पद मांग की है। उन्‍होंने केंद्र सरकार से मांग की है क‍ि वह देश के मुस्लिम और क्रिश्‍चन समुदाय के लोगों की नागरिकता समाप्‍त कर दे। उधर, एक अक्टूबर को कई हिंदू संगठनों ने परमहंस के समर्थन में हिंदू सनातन धर्म संसद का आयोजन करने का ऐलान क‍िया है।
उधर, अयोध्या में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से खरीदी गई जमीन पर सवाल उठाए गए थे। आरोपों पर तपस्वी छावनी के जगतगुरु परमहंस ने प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने संजय सिंह और पवन पांडे के राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया था। उन्होंने कहा कि तुष्टिकरण की राजनीति करने वाले राम को कभी नहीं जान पाएंगे। ये आरोप सिर्फ मुस्लिमों के वोटों के लिए लगाए जा रहे हैं। ट्रस्ट पर लगे आरोप गलत हुए तो मैं समाजवादी पार्टी और आम आदमी पार्टी पर करूंगा 1000 करोड़ का मानहानि का केस करुंगा।