एक हजार कारतूस, 2 पिस्टल के साथ तीन तस्कर अरेस्ट, पंचायत चुनाव के बीच एसटीएफ की बड़ी कार्रवाई


नालंदा। बिहार के नालंदा में एसटीएफ की टीम भारी मात्रा कारतूस और पिस्टल बरामद की है। मामला राजगीर थाना इलाके का है, जहां गुप्त सूचना पर एसटीएफ की टीम ने स्थानीय पुलिस के सहयोग से तीन हथियार तस्कर को भारी मात्रा में कारतूस और पिस्टल के साथ गिरफ्तार किया है। टीम ने कार्रवाई उस वक्त की जब कुंड के समीप ये लोग कारतूस की डिलीवरी देने के लिए आए हुए थे।
एसटीएफ के एसपी नीलेश कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि कुछ तस्कर कारतूस की बड़ी खेप को पहुचाने वाले हैं। इसमें औरंगाबाद के दाउदनगर निवासी अनिल सिंह, नवादा जिले के नारदीगंज निवासी प्रभात कुमार का नाम सामने आ रहा था। ये राजगीर थाने के बक़सू गांव निवासी विजय कुमार को कारतूस की खेप पहुंचाने वाले थे। इसी सूचना पर एसटीएफ की टीम तस्करों पर नजर बनाए हुए थी। जैसे ही कुंड परिसर के पास दोनों विजय को हथियार की खेप की डिलीवर कर रहे थे। उसी समय तीनों को दबोच लिया गया। टीम ने जब तीनों की तलाशी ली तो करीब 10 मोजे से 1000 कारतूस बरामद हुआ। वहीं तस्कर विजय के घर की तलाशी लेने पर उसके घर से 2 पिस्टल और मैगजीन भी बरामद हुआ।
एसटीएफ के एसपी नीलेश कुमार ने बताया कि राजगीर के बक़सू निवासी विजय कुमार नालंदा, नवादा, शेखपुरा, पटना समेत अन्य जिलों में हथियार और कारतूस की आपूर्ति करता है। पंचायत चुनाव को लेकर एसटीएफ पूरी तरह से सजग है। आशंका जाहिर की जा रही है कि पंचायत चुनाव को लेकर कारतूस की खेप को मंगाई गई थी। गिरफ्तार तस्करों की निशानदेही पर टीम अभी और जगहों पर छापेमारी कर रही है।