दिल्ली-एनसीआर से वाहन चुराकर बंगाल पहुंचाने वाले गैंग के 4 बदमाशों को गाजियाबाद पुलिस ने किया गिरफ्तार


गाजियाबाद ब्यूरो। गाजियाबाद में सिहानी गेट पुलिस ने दिल्ली-एनसीआर से वाहन चुराकर बंगाल पहुंचाने वाले गैंग के 4 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। उनके पास से तमंचा, चाकू और एक कार बरामद की है। थाना प्रभारी देवपाल पुंडीर ने बताया कि बदमाशों के नाम आफताब, इरफान, अरसद और मुस्तफा है।
चारों अलग-अलग स्थान से हैं और चोरी करने के साथ आते थे। उन्होंने बताया कि इनका गैंग बप्पा उर्फ सोनू घोष को कार की सप्लाई करता है, जहां कार का इंजन और चेसिस नंबर बदलकर पेपर के साथ गाड़ी बेची जाती है।
पुलिस इस गैंग के अन्य सदस्यों की जानकारी जुटा रही है। पुलिस के मुताबिक, आफताब एनसीआर में गैंग को लीड करता था। इन्हें कार चोरी का ऑर्डर बंगाल से मिलता था। गैंग के सदस्यों पर अभी तक 11 मुकदमे दर्ज होने की जानकारी मिली है। पुलिस पूछताछ में बदमाशों ने सैकड़ों वाहन चोरी की वारदात कबूल की है।
गैंग को पकड़ने वाले एसआई सौरभ कुमार ने बताया कि पूछताछ में सामने आया है कि बदमाश पुश स्टार्ट वाली कारों को टारगेट करते थे। वे पहले औजार से कार के लॉक तोड़ते थे, फिर ईसीएम (इंजन कंट्रोल युनिट) से एक डिवाइस कनेक्ट करके रिमोट की से कार को चालू करते थे और लेकर फरार हो जाते थे। इसके बाद आरोपित 1 से 2 लाख रुपये में कार सोनू को देते थे, जिसके बाद कार पेपर के साथ 2-4 लाख रुपये में बेची जाती थी।
पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि कार पश्चिम बंगाल पहुंचाने की जिम्मेदारी इरफान की होती थी। वह वहीं का रहने वाला है। एक कार को एनसीआर से बंगाल पहुंचाने के लिए इरफान 20 हजार रुपये लेता था। पुलिस इस केस में शामिल अन्य लोगों के बारे में पड़ताल कर रही है।