यमुनापार में लूटपाट करने वाले गैंग का सरगना सुंदर उर्फ बाबा गिरफ्तार


दिल्ली ब्यूरो। यमुनापार में गन पॉइंट पर कैश लूटने वाले गैंग के सरगना को पकड़ लिया गया है। इसकी पहचान सुंदर उर्फ बाबा (29) के तौर पर हुई है। आरोपी परोल जंप करने के बाद एक साथी की मदद से ताबड़तोड़ वारदातों को अंजाम दे रहा था। क्राइम ब्रांच का दावा है कि 28 अगस्त को जगतपुरी में मां-बेटी की दिलेरी दिखाने पर लूट में विफल होने के बाद पिस्टल लहराकर यही फरार हुआ था। इसकी गिरफ्तारी से पांच सनसनीखेज केस सॉल्व करने का दावा किया गया है। इस पर दिल्ली-गाजियाबाद में दस केस पहले से दर्ज हैं।
डीसीपी (क्राइम) मनोज सी. ने बताया कि आरोपियों ने 31 जुलाई की रात 10 बजे कल्याणपुरी से घर लौट रहे दुकानदार से जगतपुरी रेड लाइट पर पिस्टल दिखाकर 80 हजार रुपये लूटे थे। दोनों बदमाश बगैर हेलमेट के थे और उनके स्कूटर की चाबी भी ले गए थे। इसी तरह की कई वारदातें शाहदरा और ईस्ट जिले में हुई थीं। पुलिस टीम ने तफ्तीश के दौरान कई सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली और टेक्निकल सर्विलांस की मदद ली। हवलदार अवधेश शर्मा और सिपाही सतीश को इन वारदातों में सुंदर उर्फ बाबा के शामिल होने की सूचना मिली।
पुलिस ने गाजियाबाद जिले के लोनी स्थित राजीव कॉलोनी के घर पर छापा मारकर उसे रविवार को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उसने बताया कि वह अपने सहयोगी लोनी के संजय के साथ मिलकर वारदातों को अंजाम दे रहा था। जगतपुरी में दुकानदार के बारे में जानकारी कल्याणपुरी के रहने वाले शमशेर ने दी थी, जो अभी जेल में है। उनसे बताया कि वह रोज कैश लेकर घर जाता है। रेकी करने के बाद जगतपुरी रेडलाइट पर वारदात को अंजाम दिया गया था। पूछताछ के दौरान उसने लूटपाट की कई वारदातों में शामिल होने का खुलासा किया।
मानसरोवर पार्क के अशोक नगर स्थित दुकान पर 1 अगस्त को फायरिंग कर 1 लाख 50 हजार की लूट में यह शामिल था। गाजीपुर के टेल्को पॉइंट पर 20 जुलाई को गनपॉइंट पर 60 हजार की लूट की थी। इसी दिन मधु विहार इलाके में अपने रिश्तेदार के साथ जा रहे शख्स से 40 हजार रुपये लूटे थे। जगतपुरी में 28 अगस्त को मां-बेटी से गोल्ड चेन और हैंडबैग लूटने की कोशिश भी इन दोनों ने की थी। पब्लिक पीछे दौड़ी तो पिस्टल लहराकर दोनों फरार हो गए। आरोपी आनंद विहार थाने में दर्ज एक और मामले में भी वॉन्टेड चल रहा था।