मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद बिल्डर और फिल्म फाइनेंसर यूसुफ लकड़ावाला की रहस्यमय मौत


कांती जाधव,(मुम्बई ब्यूरो)। आर्थर रोड जेल में बंद बिल्डर और फिल्म फाइनेंसर यूसुफ लकड़ावाला की मौत की खबर सामने आ रही है। उनके शव को जेजे अस्पताल लाया गया है। फिलहाल एडीआर (एक्सीडेंटल डेथ रिपोर्ट) दर्ज की गई है। मौत के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है। मुंबई के जेजे हॉस्पिटल ने बयान जारी कर बताया कि लकड़ावाला को जब अस्पताल लाया गया, उस वक्त उसकी मौत हो चुकी थी। दोपहर 12 बजे उसे मृत घोषित कर दिया गया था। बता दें कि लकड़ावाला को जमीन हड़पने के मामले में ईडी ने गिरफ्तार किया था। 
28 मई को लकड़ावाला को ईडी ने किया था गिरफ्तार
इससे पहले खंडाला में एक महंगी जमीन की खरीद के लिए कथित रूप से जाली कागजात बनाने से जुड़े एक मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 28 मई को लकड़ावाला को गिरफ्तार किया था। ईडी ने बताया था कि लकड़ावाला को धन शोधन कानून की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया है।
लकड़ावाला को हैदराबाद के नवाब रहे हिमायत नवाज जंग बहादुर की खंडाला स्थित जमीन से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के केस में गिरफ्तार किया गया था। इसकी कीमत 50 करोड़ रुपये बताई जा रही है। सूत्रों की मानें तो लकड़ावाला ने इस जमीन को कब्जाने के एवज में सरकारी अधिकारियों, एस्टेट एजेंट्स और अन्य लोगों को 11.5 करोड़ रुपये की घूस भी दी थी। इससे जुड़े कुछ संदेहास्पद ट्रांजेक्शंस की ईडी जांच कर रही है।
इससे पहले मावल तालुका के तत्कालीन सब-रजिस्ट्रार जितेंद्र बड़गुजर ने उस वक्त लकड़ावाला के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। इसके बाद लकड़ावाला के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया था। 12 अप्रैल 2019 को लकड़वाला को उस वक्त अहमदाबाद एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया गया था, जब वह देश छोड़कर भागने की फिराक में था। इस साल फरवरी में ही उसे जमानत मिली थी।