दिल्ली में आरएफआईडी टैग नहीं तो कमर्शियल वाहनों का कटेगा चालान, परमिट हो सकता है रद्द


दिल्ली ब्यूरो। रेडियो फ्रिक्वेंसी आईडेंटीफिकेशन (आरएफआईडी) मोड के माध्यम से भुगतान किए बिना अब से कोई भी कमर्शियल वाहन दिल्ली में प्रवेश करता है तो उसका चालान कटेगा और परमिट भी रद्द हो सकती है। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की ओर से वाहनों पर आरएफआईडी लगवाने की लगातार समय सीमा बढ़ाए जाने के बावजूद जिन वाहनों पर अभी तक आरएफआईडी टैग नहीं लगा है, उनपर कार्रवाई की जाएगी। 31 अगस्त की आधी रात से निगम का नया आदेश लागू हो गया है।
दिल्ली की सीमाओं पर टोल टैक्स वसूलने के लिए दक्षिणी निगम नोडल एजेंसी है। निगम कई साल से कमर्शियल वाहनों पर अनिवार्य रूप से आरएफआईडी लगाने की पहल कर रहा है। ताकि आरएफआईडी प्रणाली के माध्यम से टोल टैक्स, पर्यावरण मुआवजा शुल्क (ईसीसी) का भुगतान कर आसानी से दिल्ली की सीमाओं में प्रवेश कर सकें। पिछले महीने निगम ने इस संबंध में नोटिस जारी किया था कि बिना आरएफआईडी टैग के कमर्शियल वाहनों को दिल्ली की सीमा में प्रवेश नहीं मिलेगा। निगम के इस कड़े रुख से दिल्ली की सीमाओं पर तमाम कमर्शियल वाहन बिना आरएफआईडी के वापस जाने लगे थे। इससे दिल्ली की सीमाओं पर स्थित टोल प्लाजा पर भारी जाम लग रहा। जाम की समस्या को देखते हुए निगम ने अपने कड़े रुख को वापस ले लिया था।
इस बार आरएफआईडी के आदेश को अलग तरीके से किया जाएगा लागू
दक्षिणी निगम ने कहा है कि इस बार आरएफआईडी के आदेश को अलग तरीके से लागू किया जाएगा। पछले महीने बिना आरएफआईडी टैग वाले वाहनों को वापस भेज दिया जाता था, इस बार वाहनों को दिल्ली की सीमा में भेज दिया जाएगा। लेकिन इनका रजिस्ट्रेशन नंबर नोट कर इनका चालान जारी किया जाएगा। बिना आरएफआईडी वाले वाहनों के परमिट रद्द करने के लिए दिल्ली सरकार के परिवहन विभाग को पत्र भेजा जायेगा।
39 टोल नाकों पर आरएफआईडी टैग उपलब्ध
दिल्ली की सीमाओं पर स्थापित 39 टोल प्लाजा पर नया आरएफआईडी टैग लिया व पुराने को रीचार्ज किया जा सकता है। दक्षिणी निगम की वेबसाइट और एमसीडी के टोल मोबाइल ऐप पर भी ऑनलाइन रिचार्ज किया जा सकता है। दक्षिणी निगम ने अपने नोटिस में कहा है कि नए आदेश को लागू कराने के लिए सभी 124 टोल प्लाजा पर विशेष टीमें तैनात की जाएंगी।