कानपुर में नदी के पुल से दोस्त को दिया धक्का, मौत के बाद मांगी दो लाख की फिरौती


कानपुर ब्यूरो। कानपुर में दिल दहलाने वाली घटना प्रकाश में आई है। बीते रविवार रात एक दोस्त ने दोस्त को पांडू नदी के पुल से धक्का देकर मौत के घाट उतार दिया। हत्या करने के बाद दोस्त ने मृतक के परिवार को कॉल कर दो लाख रुपए फिरौती की मांग की। परिजनों की सूचना पर पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट कर लिया है। इसके साथ ही गोताखोरों की मदद से शव की तलाश की जा रही है।
बर्रा थाना क्षेत्र स्थित कर्रही नई बस्ती में रहने वाले महेंद्र दोहरे गोलगप्पे की दुकान लगाता था। महेंद्र दोहरे मूलरूप से एमपी दतिया का रहने वाला है। महेंद्र बर्रा में अपने जीजा के साथ किराए के मकान में रहता था। बीते रविवार को जरौली में रहने वाला रवि प्रजापति घूमने के बहाने महेंद्र को अपने साथ ले गया था। इसके बाद देर रात रवि ने महेंद्र के जीजा को फोन कर दो लाख की डिमांड की थी।
मृतक महेंद्र के भाई सुरेंद्र दोहरे ने बताया कि बीते शनिवार को मैं गांव से कानपुर आया था। मैं कानपुर में किसी को नहीं जानता हूं। रविवार को रवि प्रजापति घर आया था, और महेंद्र को अपने साथ ले गया था। आधी रात तक महेंद्र घर लौट कर नहीं आया। रविवार रात 11 बजे फोन आया कि 2 लाख रुपए की व्यवस्था कर लो। यदि दो लाख रुपए नहीं दिए तो महेंद्र की गोली मार कर हत्या कर देंगे। इसके बाद परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने रवि की लोकेशन को ट्रैस कर अरेस्ट कर लिया।
हत्यारोपी रवि ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि मैं और महेंद्र आसपास बताशे की दुकान लगाते हैं। मेरा महेंद्र से चार दिन पहले झगड़ा हुआ था। महेंद्र ने मेरे एक तमाचा मारा था, मैंने उसी वक्त सोच लिया था कि इससे मैं बदला लूंगा। मैं महेंद्र को घूमाने के बहाने अपने साथ ले गया। जब हम लोग पांडू नदी पुल पहुंचे, तो मैंने उसे पुल से धक्का दे दिया। इसके बाद मैं वहां से भाग निकला, और उसके परिजनों से दो लाख की मांग की थी।
एडीसीपी डॉ अनिल कुमार के मुताबिक रात में सूचना मिली थी। सूचना के आधार पर आरोपी को रात में ही अरेस्ट कर लिया गया था। आरोपी और युवक के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। आरोपी ने बताया है कि उसको धोखे से ले गया था, और फिर नदी के पुल से धक्का दे दिया था। गोताखोर और पीएसी की टीमें पांडू नदी में युवक की तलाश कर रही हैं।