यूनाइटेड अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार ट्रस्ट में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाली महिला शिरीन हुसैन को उज्जैन पुलिस ने किया गिरफ्तार


मध्य प्रदेश। उज्जैन पुलिस ने ठगी के मामले 45 साल की महिला शिरीन हुसैन को गिरफ्तार किया है। शिरीन ने नौकरी देने के नाम पर करीब तीन दर्जन युवाओं से रुपये ऐंठे थी। वह 30 लोगों से 60-60 हजार रुपये लेकर नियुक्ति पत्र और पहचान पत्र जारी की थी। इसके साथ ही वह उज्जैन में भी कई लोगों से पैसे ली थी। खुद को ह्यूमन राइट्स संस्था का राष्ट्रीय महासचिव बताती थी। इसी में नौकरी दिलाने के लिए लोगों से पैसे वसूलती थी। शिरीन हुसैन की करतूतों के बारे में संस्था के अध्यक्ष मधु यादव को जानकारी मिली। उन्होंने लखनऊ से उज्जैन आकर शिरीन को समझाया। लेकिन वह नहीं मानी। इसके बाद मधु यादव ने छह सितंबर को कार्रवाई के लिए उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव को एक ज्ञापन सौंपा था।
शिरीन हुसैन की गिरफ्तारी के बाद कई नेताओं की धड़कनें बढ़ गई है। गिरफ्तारी के बाद उसे बचाने के लिए भी कई नेता गुपचुप तरीके से सामने आए थे। बताया जा रहा है कि शहर के कई राजनीतिक दल के नेताओं के साथ शिरीन के अच्छे संबंध थे। पुलिस को उम्मीद है कि पूछताछ के दौरान वह अपने करीबी लोगों के बारे में खुलासा करेगी।
शिरीन हुसैन पर एफआईआर दर्ज
इसके बाद मधु यादव ने शिरीन के खिलाफ ठगी और ब्लैकमेलिंग मामले में उसके खिलाफ नागिझरी थाने में शिकायत दर्ज करवा दी। उसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने कोर्ट में पेशी के बाद रविवार को उसे रिमांड पर लिया है। इस दौरान उससे पूछताछ कर रही है। पूछताछ के दौरान शिरीन हुसैन पुलिस को भी बरगला रही है। सही जानकारी नहीं दे रही है। उल्टे वह मधु यादव के ऊपर कई आरोप लगा रही है।
शिरीन ने की है दूसरी शादी
शिरीन की शादी अनाम के साथ हुई है। दोनों की यह दूसरी शादी है। अनाम राजनीतिक कार्यक्रमों में साउंड सिस्टम लगाने का काम करता है। दोनों ने शादी के बाद पैसे भी खूब जमा किए हैं। अनाम और शिरीन अब लग्जरी कारों से घुमते हैं। इनके नेताओं और बड़े लोगों से भी संबंध हैं।
बंटवाती थी पंपलेट
शातिर शिरीन की गिरफ्तारी के बाद उसके बारे में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। वह उज्जैन के अलग-अलग इलाकों में पपलेंट बंटवाती थी। इसमें कुछ टॉपिक लिखे रहते थे। शिरीन कहती थी कि अगर आप इन चीजों से परेशान हैं तो संपर्क करें। इसमें घरेलु हिंसा प्रमुख होता था। वह घरेलु हिंसा से परेशान लोगों से संपर्क करती और प्रताड़ित करने वाले लोगों से संपर्क साधकर उन्हें ब्लैकमेल करती। साथ ही मोटी रकम वसूलती थी।
बुजुर्गों की शादी का ठेका
मिली जानकारी के अनुसार शिरीन हुसैन इतनी शातिर है कि वह बुजुर्गों और अधेड़ लोगों की शादी का ठेका लेती थी। उन्हें युवतियों से मिलाती और शादी के नाम पर पैसा लेती थी। इसके बाद उल्टे उन युवतियों से बुजुर्गों के खिलाफ केस करवाती और पैसे वसूलती। इन आरोपों की जांच भी पुलिस कर रही है। साथ ही रिमांड के दौरान पूछताछ भी करेगी।
बड़े अधिकारियों के साथ तस्वीर
लोगों के बीच भौकाल बनाने के लिए शिरीन हुसैन अपने सोशल मीडिया पर प्रोफाइल पर अधिकारियों के साथ तस्वीर पोस्ट करती थी। शिरीन हुसैन उन तस्वीरों के जरिए यह जताने की कोशिश करती थी कि हमारे इनके साथ संपर्क हैं। गिरफ्तारी से कुछ दिन पहले भी वह उज्जैन में कुछ बड़े अधिकारियों से मिली थी। शिरीन हुसैन के घर से कुछ संदिग्ध दस्तावेज भी मिले हैं, जिसकी पुलिस जांच कर रही है।