गाजियाबाद में तीन बच्चों समेत पांच लोगों की करंट सि चिपकर मौत का मामला


गाजियाबाद ब्यूरो। यूपी के गाजियाबाद में नेहरू नगर के राकेश मार्ग स्थित दुकान पर करंट से तीन बच्चों और 2 व्यस्कों की मौत के मामले में बिजली विभाग के जेई की बड़ी लापरवाही सामने आई है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हादसे के बाद करीब 15 मिनट तक पांचों लोग तड़पते रहे। लोगों ने बिजली विभाग के अधिकारियों से संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन संपर्क नहीं हो पाया।
घटनास्थल के पास रहने वाले बालकृष्ण अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने जेई को 2-3 बार कॉल किया, लेकिन उन्होंने फोन नहीं पिक किया। इसके बाद किसी प्रकार से मेन लाइन का नंबर निकालकर वहां कॉल की गई, जिसके बाद सप्लाई बंद हुई। हालांकि तब तक काफी देर हो चुकी थी और पांचों की मौत हो गई थी।
कई जगह जर्जर हैं तार, विभाग नहीं देता ध्यान
हादसे के बाद स्थानीय लोगों ने बिजली विभाग पर लापरवाही का आरोप लगाया। लोगों ने बताया कि इलाके में बिजली के तारों की हालत सही नहीं है। जगह-जगह जर्जर तार लटके हुए हैं। तारों को सही करने पर विभाग ध्यान नहीं देता है। जहां हादसा हुआ, वहां भी तार काफी नीचे लटका हुआ था।
यही वजह है कि तार टीनशेड को टच कर गया और करंट फैल गया। अभी तक इस मामले में टीनशेड से तार के डैमेज होने की बात कर रहे बिजली विभाग से स्थानीय लोगों ने सवाल किया कि वह बारिश के मौसम से पहले अपनी लाइनों को चेक क्यों नहीं करता है। ताकि अगर कहीं दिक्कत हो तो उसे ठीक किया जा सके।
राकेश मार्ग की गली नंबर 3 में जहां यह हादसा हुआ, वहां रहने वाले सुशील ने बताया कि बारिश शुरू होने के बाद 12 साल का एक बच्चा वहां से निकल रहा था। सड़क पर कीचड़ से बचने के लिए वह दुकान के सामने यानी टीनशेड के नीचे से निकलने लगा।
इस दौरान उसने टीनशेड को सहारा दे रहे पोल को पकड़ा तो उसे करंट लगा, लेकिन वह झटका तेज नहीं था। इसके बाद वह चला गया। आसपास के लोगों को भी लगा कि नॉर्मल अर्थिंग की वजह से बच्चे को थोड़ा करंट लगा होगा। ऐसे में वहां रहने वालों ने भी इस पर ध्यान नहीं दिया। इसके एक घंटे के बाद ही यह हादसा हो गया, जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई।
लोगों ने जीटी रोड पर लगाया जाम
वहीं इस हादसे के बाद गुस्साए लोगों ने जीटी रोड पर जाम लगा दिया। लोगों ने बिजली विभाग पर भी लापरवाही का आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की। लोगों का कहना था कि जब तक जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी, वे लोग नहीं हटेंगे। जाम की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को समझाकर शांत कराया व जाम खुलवाया।