बांदा में हनुमान जी की मूर्ति रख विधवा महिला की जमीन कब्जाने की कोशिश, जेल गए ग्राम प्रधान


बांदा। उत्तर प्रदेश के बांदा में एक ग्राम प्रधान ने विधवा महिला की जमीन पर कब्जा करने के लिए ऐसी साजिश रची जिससे पूरे गांव का सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ गया। प्रधान ने विधवा महिला के निर्माणाधीन मकान की जमीन पर रातोरात चबूतरा बनाकर हनुमान जी की मूर्ति रख दी। इससे गांव में तनाव व्याप्त हो गया, लेकिन प्रशासन ने सूझबूझ का परिचय देते हुए हनुमान जी की मूर्ति वहां से हटाकर कोतवाली पहुंचा दी।
घटना बबेरू कोतवाली अंतर्गत आलमपुर गांव की है। इसी गांव में रहने वाली विधवा महिला राबिया खातून ने शिकायत की थी कि उसकी जमीन पर मकान का निर्माण हो रहा है, लेकिन गांव के प्रधान मुबीन खान और उसके साथी मकान बनाने में बाधा उत्पन्न कर रहे हैं। इतना ही नहीं ग्राम प्रधान की साजिश से रातोरात मेरे निर्माणाधीन मकान के पास जमीन पर अवैध कब्जा करने के उद्देश्य एक प्रतिमा रख दी गई है। मैंने विरोध किया तो मुझे जान से मारने की धमकी दी गई।
महिला की शिकायत पर प्रशासन ने त्वरित कार्रवाई करते हुए जांच कराई। मौके पर पहुंची एसडीएम वंदिता श्रीवास्तव ने पुलिस बल के साथ आलमपुर गांव में पहुंचकर शिकायतकर्ता महिला की जमीन की पैमाइश कराई। इस दौरान जमीन पर महिला का ही कब्जा पाया। वहीं महिला की जमीन पर ही चबूतरा बनाकर रखी गई मूर्ति को हटवाया। इस दौरान ग्राम प्रधान के खिलाफ गांव में आक्रोश नजर आया।
ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने ग्राम प्रधान समेत 7 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर प्रधान समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। कोतवाली प्रभारी नागेंद्र कुमार नागर ने बताया कि सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के मामले में वर्तमान ग्राम प्रधान मुबीन खान पुत्र रहीम खान, याकूब खान पुत्र भिक्कू खान, हसमत खान पुत्र याकूब खान, मासूम खान पुत्र फारुक खान,राजू खान पुत्र फारुख खान ,फारुख खान पुत्र अहमद अली ,वसीम खान पुत्र नईम खान निवासी ग्राम आलमपुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।
गांव में पुलिस बल तैनात
इस बीच घटना एक दिन बाद भी भय का माहौल लोगों के चेहरे पर स्पष्ट तौर पर नजर आ रहा है। गांव के विभिन्न स्थानों पर पुलिस बल तैनात है। पुलिस लगातार भ्रमण भी कर रही है। लोगों से बातचीत करते हुए पुलिस लोगों के मन से व्याप्त भय हटाने का प्रयास कर रही है। प्रभारी निरीक्षक द्वारा लगातार भ्रमण किया जा रहा है।