मुस्लिम युवक को प्रेमिका से चप्पल से पिटवाया, हिंदू जागरण मंच के नेता पर मामला दर्ज


मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ में कथित तौर पर छेड़छाड़ करने के आरोप में एक युवक की चप्पलों से पिटाई का मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक, अंतरधार्मिक प्रेम संबंध के आरोप में मुस्लिम युवक को कुछ लोगों ने पेड़ से बांध दिया। इसके बाद हिंदू प्रेमिका से उसकी चप्पलों से पिटाई करवाई गई और इसका वीडियो भी बनाया गया, ताकि युवक को अपमानित किया जा सके। हिंदू जागरण मंच के सदस्यों ने युवक को जबरन धर्मांतरण मामले में गिरफ्तार भी कराने की कोशिश की लेकिन बाद में पुलिस ने उन पर ही दंगे भड़काने का मामला दर्ज कर लिया है।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शुक्रवार को मेरठ के एक व्यस्त बाजार में कपल पेड़ के नीचे बैठा था। हिंदू जागरण मंच के जिलाध्यक्ष ने कहा कि वहां से गुजर रहे एक दुकानदार ने उन्हें इसकी जानकारी दी थी, जिसके बाद वह अपने 11 साथियों के साथ वहां पहुंचे। हिंदू जागरण मंच के लोगों ने युवक और युवती से उनका नाम पूछा। महिला हिंदू थी और पुरुष मुस्लिम। इसके बाद वे युवक पर टूट पड़े और उसकी जमकर पिटाई की।
घटना से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया पर भी वायरल है। 56 सेकंड के इस वीडियो में एक शख्स कहता सुनाई पड़ रहा है कि अपनी चप्पल उतारो और उसके चेहरे पर जोर से मारो। युवती ने युवक के चेहरे पर चप्पल से हल्का प्रहार किया। इसके बाद हिंदू संगठन के लोगों ने आदेश दिया कि उसे और जोर से मारो। उन लोगों ने युवती से कहा, 'हम तुम्हारे भाई हैं। हम यहीं खड़े हैं। उसे अपनी पूरी ताकत से मारो।'
लिंच करने वाले लोगों में से एक यह भी कहता सुनाई पड़ रहा है कि इसकी (युवक की) हिम्मत कैसे हुई युवती के सामने स्मोक करने की। वहीं दूसरे शख्स ने कहा कि इसके फोन में लड़कियों की तस्वीरें हैं। मामले में संगठन के लोगों ने युवकी की किसी दोस्त की मां को ट्रैक किया और उनसे पुलिस में लिखित शिकायत कराई कि युवक उनकी नाबालिग बेटी को जबरन बाजार में घसीट लाया था। हालांकि, पुलिस ने मामले की जांच की और यह शिकायत झूठी पाई, जिसके बाद संगठन के लोगों पर ही केस दर्ज कर दिया गया है।
सचिन सिरोही और साथियों के खिलाफ केस
थाना सिविल लाइन प्रभारी एआर सिद्दीकी ने सोमवार को बताया कि युवती की तहरीर के आधार पर हिंदू जागरण मंच के महानगर अध्यक्ष सचिन सिरोही और उनके साथी कार्यकर्ताओं के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की मारपीट से संबंधित धाराओं में मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और इसके बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। थाना प्रभारी के अनुसार अदालत में युवती का बयान भी दर्ज करा दिया गया है। वहीं, आरोपी सिरोही ने पुलिस पर एकपक्षीय कार्रवाई करने का आरोप लगाते हुए कहा कि जिस युवक के साथ मारपीट का आरोप उन पर लगाया जा रहा है उसे उन्होंने हाथ तक नहीं लगाया।
छात्राओं ने लगाया था आरोप
भावनपुर क्षेत्र की दो छात्राओं ने आरोप लगाया था कि 17 सितंबर को थाना सिविल लाइन क्षेत्र में स्थित गोल मार्केट में वह अपने दोस्त के साथ कोल्ड ड्रिंक पी रही थीं तभी सिरोही और अन्य कार्यकर्ता वहां पहुंचे और उनसे उनके नाम पूछे। इसके बाद उन्होंने युवक की पिटाई शुरू कर दी। आरोपी युवक दूसरे समुदाय से है। छात्राओं का आरोप है कि उन पर भी दोस्त को पीटने और उसके खिलाफ मामला दर्ज कराने का दबाव बनाया गया।
जिस युवक की पिटाई की गई थी, उसका इसी मामले को लेकर पुलिस ने पहले धारा 151 में चालान किया था। बाद में छात्राओं की तहरीर पर पुलिस ने शनिवार को सिरोही व अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया। थाना प्रभारी सिद्दिकी के अनुसार दोनों छात्राओं ने बताया कि युवक उनका अच्छा मित्र है और उसने उनके साथ छेड़छाड़ नहीं की है।