दिल्ली में काली चुटिया और नींबू-मिर्ची से कार की नंबर प्लेट छिपी, तो कटेगा भारी चालान


दिल्ली ब्यूरो। सड़क हादसों, बुरी नजर या रास्ते में आने वाली दूसरी मुसीबतों से बचने के लिए कई दफा लोग टोटके के रूप में गाड़ियों पर काला कपड़ा, काली चुटिया या नींबू-मिर्ची लगा धागा वगैरह बांध देते हैं। हालांकि कुछ लोग इसका गलत फायदा उठाते हुए गाड़ी की नंबर प्लेट पर ही इन्हें बांध या लटका देते हैं, ताकि ट्रैफिक रूल तोड़ने पर भी सीसीटीवी कैमरे या ट्रैफिक पुलिस की नजर में उनकी गाड़ी का पूरा नंबर ना आ सके। मगर, अब ऐसे लोगों की खैर नहीं। 
स्पेशल कमिश्नर (ट्रैफिक) डॉ. मुक्तेश चंद्र के निर्देश पर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने सोमवार से एक स्पेशल ड्राइव शुरू की है। इसके तहत ऐसे सभी लोगों पर सख्त एक्शन लिया जाएगा, जिन्होंने जान-बूझकर नंबर प्लेट पर काली चुटिया, काला कपड़ा, नींबू-मिर्ची, टेप, रस्सी या ऐसी कोई भी चीज बांध रखी होगी जिससे गाड़ी का पूरा नंबर नजर नहीं आता हो। ट्रैफिक पुलिस अब ऐसे तमाम लोगों को पकड़कर उनके चालान काटेगी। ये चालान केवल सड़कों पर ही नहीं काटे जाएंगे, बल्कि कैमरों में कैद गाड़ियों के फोटोज के जरिए भी गाड़ी के सही नंबर का पता लगाया जाएगा और फिर ट्रैफिक पुलिसवालों को गाड़ी के ओनर के घर भेजकर उसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।
स्पेशल सीपी ने बताया कि नंबर ट्रेस करने के लिए एल्गोरिदम मेथड का इस्तेमाल किया जाएगा और गाड़ी के कलर और मेक आदि को अलग-अलग नंबरों की सीरीज से मैच करके सही नंबर का पता लगा लिया जाएगा। यानी घर बैठे लोग भी कार्रवाई से बच नहीं पाएंगे। उन्होंने बताया कि चालान भी हल्का-फुल्का नहीं होगा। डिफेक्टिव नंबर प्लेट का चालान काटने के साथ-साथ अगर किसी की गाड़ी पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं होगी, तो उसके लिए अलग से चालान काटा जाएगा। साथ ही, गाड़ी के दस्तावेज भी चेक किए जाएंगे और अगर कोई अन्य वॉयलेशन पाया गया, तो उसका भी चालान कटेगा। भारी-भरकम चालान कटेगा, ताकि ऐसे लोग दोबारा रूल तोड़ने की कोशिश न करें।
बता दें कि नए मोटर वीइकल एक्ट में डिफेक्टिव नंबर प्लेट के लिए 5 हजार रुपए के जुर्माने का प्रावधान है, वहीं हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं होने पर भी 5 हजार रुपए का ही चालान कटता है। स्पेशल कमिश्नर ने लोगों से अपील की है कि वे ऐसी गाड़ियों के फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर भी शेयर करें और ट्रैफिक पुलिस को ऐसी सभी गाड़ियों के नंबर पता करके उनके चालान काटने के लिए कहा है।