जाफराबाद पुलिस ने गाड़ी चोरी कर बेचने वाले वाले गिरोह का किया भंडाफोड़


राजीव गौड़,(दिल्ली ब्यूरो)। जाफराबाद पुलिस ने गाड़ी चोरी कर उसे बेचने वाले सिंडिकेट का पर्दाफाश हुआ है। दो चोरों और तीन रिसीवर को अरेस्ट किया गया है। आरोपियों की पहचान चौहान बांगर के शकील (19), एक 16 साल के नाबालिग, वजीराबाद के मोहम्मद अमन (19), सुहेल (20), नोमन अहमद (37) के तौर पर हुई है। इनसे 10 बाइक और 2 स्कूटर बरामद किए गए हैं।
डीसीपी (नॉर्थ ईस्ट) संजय कुमार सैन ने बताया कि इलाके में गाड़ी चोरी की वारदातों के मद्देनजर जाफराबाद थाने के इंस्पेक्टर शैलेंद्र कुमार सिंह की देखरेख में एक स्पेशल टीम बनाई गई। टीम ने इलाके के 150 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। इसी कड़ी में 8 सितंबर को दोपहर 2 बजे ब्रह्मपुरी से घोंडा चौक की तरफ एक बाइक पर दो युवक आते दिखे। पुलिस टीम ने रुकने का इशारा किया तो दोनों बदमाशों ने यू-टर्न ले लिया। पुलिस टीम ने पीछा कर दोनों को दबोच लिया। गाड़ी के दस्तावेज मांगे तो दिखा नहीं सके। जांच में बाइक जाफराबाद इलाके से चोरी पाई गई। आरोपी शकील और नाबालिग को पकड़ लिया गया।
पूछताछ में दोनों ने गाड़ी चोरी की कई वारदातों में शामिल होने की बात कबूली। उन्होंने बताया कि वह इस काम को मोहम्मद अमन के निर्देश पर करते हैं, जो उन्हें हरेक बाइक चोरी करने के 2000 रुपये देता है। पुलिस ने वजीराबाद से अमन को दबोचा तो उससे चोरी के चार टू-वीलर बरामद हुए। अमन ने खुलासा किया कि वह चोरी की गाडि़यों को सोहेल को देता है, जो उसे हर गाड़ी पर 3000 रुपये देता है। इसकी निशानदेही पर सोहेल एक चोरी की बाइक के साथ पकड़ा।
इसने बताया कि वह 5000 रुपये में बाइक को नोमन अहमद को देता है, जिसे पुलिस ने चोरी के 6 टू-वीलर समेत पकड़ा। पूछताछ में नोमन ने बताया कि वह चोरी की गाड़ी लेने के बाद उसके अलग-अलग पार्ट्स को दिल्ली से बाहर भेज देता था। इसके लिए उसे 10 हजार रुपये मिलते थे। इनसे बरामद गाड़ियां जाफराबाद, भजनपुरा, न्यू उस्मानपुर, मानसरोवर पार्क, ज्योति नगर और कृष्णा नगर इलाके से चोरी की गई थी। आरोपियों के खिलाफ इससे पहले कोई मामला दर्ज नहीं है।