रात भर अवैध हिरासत में रखकर रेलवेकर्मी को पीटा, कानों के पर्दे फटे


गाजियाबाद डेस्क। माता कॉलोनी निवासी रेलकर्मी ने गोशाला चौकी पुलिस पर बेरहमी से पिटाई का आरोप लगाते हुए मंगलवार को परिजनों के साथ एसएसपी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। रेलकर्मी का कहना है कि पुलिस की पिटाई में उनके दोनों कानों के पर्दे फट गए, जबकि उनका भाई व दोस्त भी गंभीर रुप से घायल हो गए। उन्होंने एसएसपी को शिकायत देकर गोशाला चौकी इंचार्ज समेत तीनों पुलिसकर्मियों पर केस दर्ज करने की मांग की। एसएसपी ने सीओ को मामले की जांच सौंपी है।
माता कॉलोनी सेक्टर-11 निवासी मनोज कुमार रेलवे कर्मचारी हैं। उनका कहना है कि एक सितंबर की रात उनके पास भाई राकेश का फोन आया। उसने कहा कि मोहल्ले में रहने वाला महावीर आए दिन उसे परेशान करता है और उस पर टेंपो चढ़ाने की कोशिश की। मनोज कुमार का कहना है कि वह दोस्त त्रिवेंद्र के साथ सम्राट चौक पर भाई की टेंपो रिपेयरिंग की दुकान पर पहुंच गए। वहां देखा कि महावीर उनके भाई के गाली-गलौज कर रहा है। उन्होंने से समझाया तो वह पुलिस बुलाने की धमकी देकर वहां से चला गया। मनोज कुमार का कहना है कि 10 मिनट बाद महावीर गोशाला चौकी इंचार्ज विपिन और दो पुलिसकर्मियों को लेकर आ गया। इसके बाद पुलिसकर्मी उन्हें गोशाला चौकी ले गए और उन्हें बेरहमी से पीटा।
मनोज कुमार का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने कान और जबड़ों पर प्रहार किए। उनके कानों के दोनों पर्दे फट गए तथा दोस्त व भाई घायल हो गए। इसके बाद तीनों को रातभर हवालात में बंद रखा और सुबह एक-एक हजार रुपए लेकर छोड़ा। कानों का प्राइवेट अस्पताल में उपचार कराना पड़ा। मंगलवार को उन्होंने एसएसपी दफ्तर पर प्रदर्शन कर दरोगा समेत तीनों पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज करने की मांग की।