गाजियाबाद साइबर सेल को मिली सफलता, करोड़ों की ठगी करने वाले फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़


प्रेम प्रकाश त्रिपाठी,(गाजियाबाद)। कविनगर पुलिस व साइबर सेल की टीम ने राजनगर आरडीसी में चल रहे फर्जी काल सेंटर का भंडाफोड़ कर तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। आरोपित काल सेंटर से लोगों को फोन कर उनके इंश्योरेंस की मैच्योरिटी के नाम पर ठगी कर रहे थे। पुलिस के मुताबिक आरोपित 50 से अधिक लोगों से लाखों रुपये की ठगी कर चुके हैं। पुलिस ने इनके पास से 14 मोबाइल फोन, पासबुक, छह एटीएम कार्ड समेत अन्य दस्तावेज बरामद किए हैं।
साइबर सेल के नोडल अधिकारी एवं सीओ इंदिरापुरम अभय कुमार मिश्र ने बताया कि पकड़े गए आरोपित मूलरूप से बिहार और वर्तमान में राजनगर एक्सटेंशन निवासी हिमांशु शेखर, विजयनगर कृष्णानगर निवासी जोनी, राजनगर एक्सटेंशन निवासी संदीप गुप्ता हैं। उन्होंने बताया कि काल सेंटर का संचालन जोनी कर रहा था। जबकि हिमांशु शेखर बिहार के लोगों के नाम पर फर्जी सिम लेता था और बैंक में फर्जी खाते खुलवाता था। संदीप के पास बैंक का आनलाइन लागइन था और वह एटीएम व अन्य माध्यमों से पैसा ट्रांसफर व निकालने का काम करता था। हिमांशु व संदीप अलीगढ़ से भी ठगी के मामले में जेल जा चुके हैं और मई माह में पैरोल पर बाहर आए थे। तब से उन्होंने आरडीसी में ठगी का धंधा शुरू कर दिया था।
सीओ अभय मिश्र ने बताया कि आरोपितों के पास इंश्योरेंस पालिसी धारकों का डाटा आता था। वह काल सेंटर से उन्हें फोन करते थे और पैसा जमा करने का झांसा देकर पालिसी में बड़े फायदे का सपना दिखाते थे। बाकायदा आरोपित फर्जी चेक बनाकर उनकी फोटो खींचकर भी लोगों को भेजते थे। ऐसा कर वह पालिसी धारकों से चेक मंगाते थे और उन्हें खातों में जमा कर देते थे। इसके साथ ही आरोपित पालिसी के नाम पर लोन का झांसा देकर भी ठगी कर रहे थे।