दिल्ली के पांडव नगर थाने में होमगार्ड ने लगाई फांसी,एसएचओ लाइन हाजिर


पूर्वी दिल्ली। पांडव नगर थाने में सोमवार सुबह दिल्ली होमगार्ड के जवान ने फांसी लगाकर जान दे दी। मृतक की पहचान बृजलाल के रूप में हुई है। थाने में ड्यूटी पर पहुंचने के कुछ देर बाद ही उन्होंने खुदकुशी कर ली। मृतक के स्वजन ने थानाध्यक्ष पर बृजपाल को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। जवान के खुदकुशी करने की सूचना मिलते ही जिले के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंचे। जिला पुलिस उपायुक्त प्रियंका कश्यप ने बताया कि मेडिकल बोर्ड से मृतक का पोस्टमार्टम करवाया गया है। जांच के आदेश दे दिए गए हैं। थाने में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज व पुलिसकर्मियों से पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने थानाध्यक्ष द्वारा जवान को प्रताड़ित करने के आरोप से इन्कार किया है।
जानकारी के अनुसार बृजलाल अपने परिवार के साथ राजबीर कालोनी में किराये पर रहते थे। परिवार में पत्नी किरण, तीन बेटियां नीतू, नेहा, निशा, और बेटा चाहत है। पिछले पांच वर्षों से बृजलाल पांडव नगर थाने में तैनात थे। मृतक के भतीजे कुलदीप ने बताया कि सोमवार सुबह बृजलाल ड्यूटी के लिए थाने गए थे, आठ बजे के आसपास वह थाने पहुंच गए थे।
करीब दस बजे बजे एक पुलिसकर्मी ने बृजलाल को दूसरी थाने की मंजिल पर स्थित एक कमरे में पंखे से लटके हुए देखा। मामले की सूचना पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई। पुलिस ने परिवार को मामले की सूचना दी। परिवार का आराेप है कि पुलिस ने थाने के अंदर तक जाने नहीं दिया, वे कई घंटे थाने के बाहर बैठे रहे। आरोप लगाया कि थानाध्यक्ष बृजलाल को बुरी तरह डांटते थे, सोमवार को ड्यूटी पर आने के बाद भी उन्हें डांटा गया था। बृजलाल ने निराश होकर खुदकुशी की।
होमगार्ड बृ‌जलाल की खुदकुशी के मामले में पांडव नगर के थानाध्यक्ष विद्याधर सागर को लाइन जाहिर कर दिया गया है। जिला पुलिस उपायुक्त प्रियंका कश्यप ने इसकी पुष्टि की है। ‌‌मृतक के परिवार ने थानाध्यक्ष पर बृजलाल को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। पिछले तीन महीने में थाने के अंदर यह दूसरा मामला है, जब किसी जवान ने खुदकुशी की है।