प्रयागराज में कहर बरपा रहा है डेंगू, मेदांता में भर्ती सब-इंस्पेक्टर ने तोड़ा दम


प्रयागराज ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में डेंगू की दस्तक के बाद लगातार डेंगू के मरीज सामने आ रहे हैं। आलम ये है कि प्रयागराज बेली हॉस्पिटल और एसआरएन हॉस्पिटल में कई मरीज को भर्ती किया गया है। डेंगू को लेकर जिला प्रशासन पहले से अलर्ट है और जगह-जगह दवा का छिड़काव और लोगों को डेंगू के प्रति स्वास्थ्य विभाग अलर्ट कर रहा है। इस जागरूकता अभियान के बाद भी डेंगू के मरीज प्रयागराज में सामने आने का सिलसिला जारी है। अब तक प्रयागराज में 80 से अधिक डेंगू के मरीज सामने आए हैं। डेंगू की वजह से एक मौत का मामला सामने आया है।
प्रयागराज के फाफामऊ ,तेलियरगंज, राजापुर का गंगानगर, संगम विहार कॉलोनी, रेलवे कॉलोनी में डेंगू के मरीज सामने आए हैं। जिन का इलाज अलग-अलग हॉस्पिटल में चल रहा है। वही कई इलाकों में डेंगू के मरीज बढ़ते जा रहे हैं। डेंगू के बढ़ते मामलों के बीच पहले शख्स की डेंगू की वजह से मौत का मामला सामने आया है। सिविल लाइन थाने के हनुमान मंदिर चौकी इंचार्ज शेखर उपाध्याय को कुछ दिन पहले बुखार की शिकायत थी।
जब जांच करवाया गया तो उन्हें डेंगू निकला और कई दिनों तक प्रयागराज में इलाज चल रहा था लेकिन आराम नहीं मिला तो चौकी इंचार्ज को लखनऊ रेफर किया गया। जहां पर आज इलाज के दौरान लखनऊ मेदांता हॉस्पिटल में देहांत हो गया। इस खबर के सामने आने पर प्रयागराज में पुलिस महकमे में शोक व्याप्त है। प्रयागराज के आईजी केपी सिंह, एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी, एडीजी प्रेम प्रकाश के अलावा कई पुलिस अधिकारियों ने अपने पुलिस कर्मचारी की मौत पर शोक व्यक्त किया है।
स्वास्थ्य विभाग करवा रहा है दवा का छिड़काव
प्रयागराज में डेंगू के बढ़ते मामलों के बीच जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने एसआरएन हॉस्पिटल और प्रयागराज के बेली हॉस्पिटल में डेंगू वार्ड अलग से बनाया है। साथ ही आम आदमी को डेंगू के रकथाम के लिए जागरूकता अभियान चलाकर लोगों में जागरूकता ला रहा है। इसके साथ ही मलेरिया विभाग अलग-अलग इलाकों में दवाइयों का छिड़काव कर रहा है। डेंगू के प्रकोप से गांव और शहर दोनों जगह मामला सामने आ रहा है और अब तक प्रयागराज में 87 डेंगू के मरीज सामने आए हैं। वही डेंगू के बढ़ते मामलों के बीच ब्लड बैंक में प्लेटलेट की डिमांड बढ़ गई है।