यूपी के तेजतर्रार आईएएस प्रेम प्रकाश मीणा,दिनभर काम, शाम को यूट्यूब पर लगाते हैं यूपीएससी की क्लास


चंदौली। 2017 बैच के आईएएस अधिकारी प्रेम प्रकाश मीणा चंदौली में जॉइंट मैजिस्ट्रेट के पद पर तैनात हैं। 2018 बैच के आईएएस अफसर प्रेम प्रकाश मीणा अपने तेवरों को लेकर खासा सुर्खियां बटोर रहे हैं। करीब 6 महीने पहले ही हाथरस से ट्रांसफर होकर चंदौली आए प्रेम प्रकाश मीणा ने 'न्याय आपके द्वार' पहल से लोगों का दिल जीत लिया है। बीते 6 महीने में उन्होंने ग्राउंड पर मौजूद रहकर ऐसे-ऐसे जटिल जमीन विवाद सुलझाए हैं, जो सालों से अटके थे। सैकड़ों एकड़ जमीन को भूमाफियाओं के कब्जे से खाली करवाया है और अब इन जमीनों पर पंचायत भवन और मिनी स्टेडियम बन रहे हैं।
अपने इस कामकाज से इतर वह यूपीएससी  और स्टेट सिविल सर्विस की तैयारी कर रहे बच्चों की पढ़ाई में मदद करने के लिए रोज शाम को यूट्यूब पर अपनी क्लास सजाते हैं। इन क्लासों में हिस्ट्री, ज्यॉग्रफी और पॉलिटी से लेकर करेंट अफेयर्स तक के टॉपिक कवर करते हैं। शुरुआत में शौकिया तौर पर शुरू हुआ उनका यूट्यूब चैनल अब धीरे-धीरे पूरा जोर पकड़ रहा है और बच्चे उनकी क्लास काफी पसंद कर रहे हैं।
इस बारे में बात करने पर उन्होंने बताया, '2015 में जब विदेश से नौकरी छोड़कर आया और सिविल सर्विस की तैयारी शुरू की, तब अहसास हुआ कि समाज में कई लोग हैं जो कुछ अच्छा करना चाहते हैं, मगर जिनके पास पैसा नहीं है उनके लिए सिविल सर्विस का एग्जाम देना और उसकी तैयारी करना बहुत टेढ़ी खीर है। कोचिंग की फीस पर ही डेढ़ से 2 लाख का खर्चा आता है, रहने-खाने का खर्च अलग से और सच बताऊं तो कोचिंग में खास कुछ पढ़ाते भी नहीं। यह सच बात है।'
उन्होंने कहा, 'मैंने सोचा हम क्यों न टेक्नॉलजी का इस्तेमाल करके उन जरूरतमंद बच्चों के लिए क्लास रखें, जहां दिन में अपने शेड्यूल से आधा-एक घंटा निकालकर वीडियो बनाएं और अपलोड कर दें। इससे अगर लोगों का फायदा हो जाए तो कितनी अच्छी बात है। शुरुआत में जब चैनल बना था तो उसमें रोजमर्रा के अपने फील्ड के कामकाज दिखाते थे। मगर अब पिछले 4 महीने में हमने इसे सीरियस लेवल पर शुरू किया और कोशिश है कि रोज एक टॉपिक पर क्लास हो सके।'
प्रेम प्रकाश मीणा की इस टीम में उनके अलावा सौरभ और तुषार हैं, जो वीडियो शूटिंग और एडिटिंग का काम देखते हैं। उन्होंने आगे कहा, 'हमने प्राचीन इतिहास और इकॉनमी पर सीरीज बनाई है एक। बाकी करेंट अफेयर्स भी साथ-साथ कवर करते रहते हैं। दिसंबर 2020 में शुरू हुए इस चैनल को अब अच्छा रेस्पॉन्स मिल रहा है। लोग वीडियोज देख रहे हैं, कॉमेंट करते हैं कि उनके लिए काफी फायदेमंद रहे हैं ये वीडियो...ये देखकर काफी सुकून मिलता है।'
उन्होंने कहा, 'मेरा टारगेट है कि अगले एक से डेढ़ साल में मैं यूपीएससी से जुड़े सारे टॉपिक्स को अपने वीडियोज में कवर कर लूं। क्योंकि जनरल स्टडीज के ये टॉपिक कभी बासी नहीं होते। एक बार हम अच्छी क्वॉलिटी के वीडियोज बना ले जाएं, तो 5 साल भी ये बासी नहीं होने हैं। क्योंकि प्राचीन इतिहास, मध्यकालीन इतिहास, भूगोल वही रहना है जो आज है।'
प्रेम प्रकाश मीणा चंदौली से पहले हाथरस में जॉइंट मैजिस्ट्रेट के पद पर तैनात थे। वहां भी उन्होंने 'न्याय आपके द्वार' अभियान के तहत गांव-गांव पहुंचकर लोगों की समस्याएं सुनीं और ज्यादातर का मौके पर ही समाधान कराया। हाथरस के वेदांता हॉस्पिटल में गड़बड़ी की शिकायत पर छापा मारकर उन्होंने हॉस्पिटल को सील कर दिया था।
शहर के हृदेश मेडिकल स्टोर पर की गई उनका कार्रवाई आज भी लोगों को याद है, जब वह बाइक पर ही छापा मारने पहुंच गए थे। मेडिकल स्टोर पर प्रतिबंधित इंजेक्शन मिले थे, जिसके बाद उसे सील कर दिया था। इसके अलावा हाथरस की एक मसाला फैक्ट्री पर छापेमारी भी चर्चाओं में रही। यहां छापेमारी के दौरान भूसे से मसाले का निर्माण होते मिला, जिस पर फैक्ट्री को सील कर दिया गया था। नगर पालिका के टोल टैक्स के भवनों के अवैध निर्माण, बागला कॉलेज रोड पर अतिक्रमण, किला क्षेत्र में अवैध निर्माण कार्यों को ध्वस्त कराकर उन्होंने खूब सुर्खियां बटोरी थीं।