गणेशोत्सव में मास्क ना पहनना पड़ेगा मंहगा, मुंबई पुलिस ने बनाया एक्शन प्लान


मुंबई ब्यूरो। मुंबई समेत महाराष्ट्र में शुरू होने वाले गणेशोत्सव को लेकर मुंबई पुलिस ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। ताकि त्यौहार के दौरान होने वाली भीड़ पर नियंत्रण रखा जा सके और भीड़ का फायदा उठाकर मास्क ना पहनने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई की जा सके। महाराष्ट्र में सितंबर के आखिर और अक्टूबर के पहले सप्ताह में तीसरी लहर के आने की आशंका व्यक्त की जा रही है। जिसको लेकर महाराष्ट्र सरकार काफी दिनों से तैयारियां कर रही है। ऐसे में गणेशोत्सव के दौरान कोरोना के मामले ना बढ़ें। सरकार इस बात का खास ख्याल रख रही है। इसी वजह से मुंबई पुलिस को भी नियमों का पालन ना करने वाले लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है।
मुंबई पुलिस ने बनाई टीम
मुंबई पुलिस ने इस बाबत एक विशेष टीम को तैयार किया है। जो शहर के सभी जोन में तैनात किए जाएगी। इस विशेष टीम के हर एक ग्रुप में एक वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक, एक एपीआई, 2 पीएसआई और 11 पुलिस हवलदार शामिल होंगे। इन सभी लोगों को कोरोना नियमों का पालन ना करने वाले लोगों पर कठोर कार्रवाई करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। मुंबई के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी विश्वास नागरे पाटिल ने यह टीम गठित की है।
कुछ दिन पहले मुंबई महानगरपालिका और गणेशोत्सव मंडलों के पदाधिकारियों की बैठक हुई थी जिसमें इस वर्ष कोरोना महामारी को देखते हुए गणेशोत्सव मनाने के लिए कुछ नियम बनाए गए थे। जिसमें सर्वजनिक गणेश मंडल की मूर्तियों को कृत्रिम तालाब में विसर्जित ना करते हुए चौपाटी पर विसर्जन किया जाएगा। चौपाटी पर विसर्जन करने के लिए तय सीमा में कार्यकर्ता आ सकते हैं। इसके अलावा बप्पा की विसर्जन यात्रा को भी ना निकालने का फैसला किया गया था।
गणेशोत्सव से संबंधित सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देश
  •  गणेश उत्सव के संदर्भ में इजाजत लेना जरूरी
  •  कोरोना संक्रमण को देखते हुए गणेशोत्सव को सादगी पूर्ण तरीके से मनाया जाए
  •  सर्वजनिक गणेश मंडल में बप्पा की मूर्तियां 4 फुट और घरों में 2 फुट की होनी चाहिए
  •  बप्पा का विसर्जन कृत्रिम तालाब में किया जाए, यदि संभव हो तो शाडू की मिट्टी की मूर्ति रखी जाए
  •  जनता जो दान दें उसे स्वीकार किया जाए
  •  मंडप में होने वाली भीड़ ना होने दिया जाए
  •  सांस्कृतिक कार्यक्रमों की जगह स्वास्थ्य से जुड़े जागरूकता वाले कार्यक्रम किये जाए
  • आरती, भजन, कीर्तन में होने वाली भीड़ रोकी जाए
  • जनता की भीड़ ने बढ़े इसलिए ऑनलाइन दर्शन की सुविधा उपलब्ध हो
  • गणपति पंडाल में सैनिटाइज़ेशन और थर्मल स्क्रीनिंग की सुविधा उपलब्ध हो