पत्नी को काली और मोटी बताकर सुहागरात मनाने से किया इंकार


नई द‍िल्‍ली। शादी के सपने हर लड़की के लिए हसीन होते हैं, वो अगर पहली ही रात टूट जाए तो उसके दुख का अंदाजा लगाया जा सकता है। कुछ ऐसा ही करावल नगर में एक लड़की के साथ हुआ। शादी के बाद जब नवविवाहिता ससुराल पहुंची तो पति ने उसे काली और मोटी बताते हुए सुहागरात बनाने से इंकार कर दिया। इसके बाद भी वह लगातार बहाने बनाकर पत्नी से दूर भागता रहा। पत्नी ने जब पति से बातचीत करके रिश्ते को सुधारने की कोशिश करनी चाही तो युवक ने साफ कह दिया कि उसे तो भाभी ही पंसद है।
आरोप है कि इसके बाद नवविवाहिता को लगातार दहेज के लिए प्रताडि़त किया जाने लगा। इतना ही नहीं शादी के कुछ समय बाद ही उसे ससुराल से अलग एक ऐसे घर में शिफ्ट कर दिया गया, जहां बिजली पानी की भी कोई व्यवस्था नहीं थी। पति उसे वहां छोड़कर खुद अपनी भाभी के पास चला जाता था। युवती की शिकायत पर दयालपुर पुलिस ने पति और सास ससुर सहित अन्य लोगों के खिलाफ दहेज प्रताड़ना की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया। राधिका (बदला हुआ नाम) की शादी 10 फरवरी 2019 को करावल नगर में रहने वाले श्याम (बदला हुआ नाम) के साथ हुई थी। जब युवती की शादी पक्की हुई तो बताया गया था कि श्याम की करावल नगर में ही मोबाइल की शॉप है। वह हर महीने 60,000 रुपये कमा लेता है। शादी के बाद जब युवती अपनी ससुराल पहुंची तो उसे सब कुछ अजीब सा लगा। युवती को सबसे बड़ा झटका तो तब लगा जब सुहागरात वाली रात पति ने यह कहते हुए सुहागरात मनाने से मना कर दिया कि वह काली और मोटी है।
युवती को लगा कि कुछ दिनों बाद सब ठीक हो जाएगा, लेकिन पति लगातार उसकी अनदेखी करता रहा। युवती ने जब पति से उसकी बेरुखी की वजह पूछी तो उसने कहा कि वह अपनी भाभी को पसंद करता है, इसलिए वह उसे पति का सुख नहीं दे सकता। युवती ने जब पति से पूछा कि फिर उसने उससे शादी क्यों की तो युवक ने कहा कि परिवार वालों के दबाव ही वजह से उसे ऐसा करना पड़ा।
आरोप है कि इसके बाद युवती को ससुराल में लगातार दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा। सास शादी के कुछ दिन बाद ही उससे सारी जूलरी उतरावा ली थी। पति सहित ससुराल के सभी सदस्य दहेज के लिए ताना मारने लगे। पति कहता था उसे तो कार चाहिए थी, लेकिन उसके मायके वालों ने उसे बहुत हल्की बाइक दे दी। एक दिन युवती अपने पति के साथ हरियाणा स्थित उसके गांव से वापस दिल्ली लौट रही थी। युवक ने बीच रास्ते में युवती को छोड़कर भागने का भी प्रयास किया। वहां से वापस लौटने के बाद युवती को एक टूटे फूटे किराए के घर में शिफ्ट कर दिया गया। यहां पर बिजली पानी की भी कोई व्यवस्था नहीं थी। कई दिन महिला को भूखे गुजारने पड़े। बीमार होने पर उसे डॉक्टर को भी नहीं दिखाया जाता था।
पति अकसर उसे अकेला छोड़कर अपनी भाभी के पास चला जाता था। परेशान होकर युवती ने अपने पिता को इसकी जानकारी दी तो उनसे बेटी की हालत देखी नहीं गई और 19 नवंबर 2019 को उसके पिता उसे मायके ले गए। तब से वह मायके में ही है। युवती ने पति सास ससुर के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने युवती की शिकायत पर दहेज प्रताड़ना की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया।