लूटे गए फोन से बदमाशों ने खींचा फोटो, पुलिस ने दबोचा


नई दिल्ली। बुराड़ी में रहने वाले इलेक्ट्रिशन से बाइक सवार दो बदमाशों द्वारा मोबाइल फोन और पर्स लूटने के मामले में दोनों आरोपी पकड़े गए। इन्हें पकड़वाने में इलेक्ट्रिशन द्वारा इस्तेमाल की गई तकनीक की अहम भूमिका रही। लूटे गए मोबाइल फोन से जैसे ही बदमाशों ने फोटो खींचा, उसका नोटिफिकेशन पीड़ित के पास पहुंच गया। उन्होंने यह बात पुलिस को बताई। पुलिस ने तुरंत उसकी लोकेशन का पता लगाकर मुलजिमों को पकड़ लिया।
मामले में नॉर्थ दिल्ली के डीसीपी एंटो अल्फोंस ने बताया कि गिरफ्तार मुलजिमों में रितेश उर्फ बाबू और धीरज हैं। 32 साल का रितेश इब्राहिमपुर बुराड़ी का रहने वाला है। इसके पहले भी स्नैचिंग और घर में चोरी के सात मामले पाए गए हैं। जबकि 21 साल का धीरज डीसीपी कॉलोनी नत्थुपुरा बुराड़ी का रहने वाला है। इसका इतिहास खंगाला जा रहा है। इन्हें बुराड़ी थाने के एसएचओ सुरेश कुमार, एसआई सतेंद्र सिंह और इनकी टीम ने पकड़ा है। इनके पास चोरी की दो बाइक भी बरामद की गई है। साथ ही पुलिस ने लूट और झपटमारी के 10 मामलों का खुलासा करने का दावा किया है।
पुलिस ने बताया कि घटना 3 सितंबर को शास्त्री पार्क एक्सटेंशन में रात करीब 11:15 बजे हुई। जबकि पीड़ित इलेक्ट्रिशन अपने घर जा रहे थे। तभी रास्ते में बाइक सवार इन दोनों बदमाशों ने उन्हें लूट लिया था। लूटे गए मोबाइल फोन से यह फोटो खींच रहे थे। फोटो खींचते ही इसका नोटिफिकेशन ई-मेल के जरिए पीड़ित के पास पहुंच गया। जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस ने लोकेशन का पता लगाकर आरोपियों को पकड़ लिया।