फर्जी क्राइम ब्रान्च अधिकारी बनकर अवैध पटाखा फैक्ट्री पर कार्यवाही न करने के नाम पर ठगी करने वाले 02 व्यक्ति गिरफ्तार


प्रेम प्रकाश त्रिपाठी,(गाजियाबाद ब्यूरो)। गाजियाबाद में फर्जी पुलिसकर्मी बन अवैध कारोबार में मदद के लिए पुलिस से सेटिंग करवाने के नाम पर रुपये लेने वाले 2 शातिरों को स्वाट (स्पेशल विपंस एंड टैक्टिक्स) टीम ने गिरफ्तार किया है। दोनों ने कुछ दिन पहले ही मधुबन बापूधाम थाना क्षेत्र में चल रही एक फैक्ट्री को पुलिस की रेड से बचाने के लिए रुपये लिए थे। इस मामले में शिकायत के बाद हुई जांच के बाद यह कार्रवाई की गई। एसपी क्राइम दीक्षा शर्मा ने बताया कि आरोपियों के नाम नवीन चतुर्वेदी उर्फ बॉबी पंडित और हेमंत कुमार हैं। नवीन खुद को पत्रकार बताता है। दोनों ने मिलकर अवैध पटाखा फैक्ट्री चला रहे मनोज जैन और ललित गोयल को पुलिस ने बचाने के लिए 8 लाख रुपये लिए थे। इन रुपयों में से करीब साढ़े 5 लाख रुपये बरामद कर लिए गए हैं।
जानकारी के अनुसार, फैक्ट्री के मालिक सीधे बॉबी पंडित के संपर्क में थे। जब फैक्ट्री में स्वाट और थाना पुलिस की छापेमारी की सूचना आई तो उन्होंने बॉबी को कॉल कर उन्हें बचाने के लिए कहा। इसके बाद उसने अपने साथी हेमंत कुमार को प्रदीप नाम से उससे मिलवाया और उसे क्राइम ब्रांच का इंस्पेक्टर बताया।
इसके बाद प्रदीप के माध्यम से फैक्ट्री के काम चलवाने और पुलिस से सेटिंग करवाकर मदद करने की बात कही। दोनों ने इस काम के लिए 10 लाख रुपये की डिमांड की। बातों में फंसकर कारोबारी ने उन्हें 8 लाख रुपये दे भी दिए। जानकारी के अनुसार, पुलिस की रेड में 6 लोगों की गिरफ्तारी होने के बाद दोनों आरोपितों ने फैक्ट्री मालिकों को बचाने की भी डील कर ली थी। इसके लिए वे और रुपये मांग रहे थे। स्वाट प्रभारी आनंद मिश्रा ने बताया कि पकड़े गए दोनों शातिरों की आपराधिक हिस्ट्री के बारे में जानकारी की जा रही है।