1 करोड़ 24 लाख खर्च कर जलेंगे 9 लाख दीये, 28 से शुरू होगा अयोध्या दीपोत्‍सव मेला


अयोध्या,(उत्तर प्रदेश)। राम की नगरी में 1 नवंबर से 6 नवंबर तक चलने वाले दीपोत्‍सव मेले की तैयारियां तेज हो गई हैं। दीपोत्‍सव के मुख्‍य स्‍थल राम की पैड़ी पर रंगाई-पुताई के बाद अब फर्श पर डिजाइनिंग कर रामायण काल के चित्र बनाकर इसका दीयों को जलाकर प्रजेंटेशन किया जाएगा। अवध यूनिवर्सिटी के 12 हजार वालिंटियर्स दीयों को सजाने का काम दीयों की प्रिंट वाली एक ही तरह की टीशर्ट व कैप पहन कर करेंगे। क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी आरपी यादव के मुताबिक, 1 लाख दीये अयेाध्‍या के प्रमुख मंदिरों मे भी जलेंगे। साथ ही मंदिरों में लाइटिंग की भी व्‍यवस्‍था की जा रही है। 9 लाख दीयों को जलाने में 1 करोड़ 24 लाख का खर्च आ रहा है। जिसमें से 1 करोड़ की धनराशि अवध यूनिवर्सिटी को अवमुक्‍त कर दी गई है। दीपोत्‍सव के दिन 36 हजार लीटर (2400 टिन) तेल जलेगा। प्रत्‍येक दीये में 4 मिली तेल जलेगा। इस साल पुराने सरयू पुल को भी फूलों की लरियों से सजाया जाएगा। साकेत डिग्री कालेज में 11 राम कथा की झांकियों के रथ तैयार हो रहे हैं। अलग-अलग प्रदेशों के 11 सांस्‍कृतिक दलों के करीब 300 कलाकार भी अपने कार्यक्रम पेश करेंगे। अयोध्‍या में जगह जगह तोरण द्वार भी बन रहे हैं।
28 अक्‍टूबर से 3 नवंबर तक चलेगा मेला
दीपोत्‍सव मेले में नुक्‍कड़ नाटक कुम्‍हारों के मिट्टी के बर्तन के स्‍टाल पटरी दूकानदार भी लगाएंगे। अपने स्‍टाल कथपुतली नृत्‍य लोक गायन और अन्य सांस्‍कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन भी होंगे। सीएम के निर्देश पर यह दीपोत्‍सव मेला राजकीय इंटर कालेज के मैदान पर 28 अक्‍टूबर से 3 नवंबर तक चलेगा।