100 से ज्यादा लग्जरी कार चुराने वाले गिरोह का दिल्ली पुलिस ने किया पर्दाफाश


दिल्ली ब्यूरो। लाजपत नगर थाना पुलिस ने लग्जरी कारें चुराने वाले गिरोह का पर्दाफाश कर एक वाहन चोर को गिरफ्तार किया है। गिरोह के सदस्य सिर्फ लग्जरी कारें ही चुराते थे और दिल्ली व एनसीआर से 100 से ज्यादा कारें चुरा चुके हैं। आरोपी चोरी की लग्जरी कारें सिलीगुड्डी, पश्चिमी बंगाल में बेचते थे। गिरोह के कब्जे से दो लग्जरी कारें बरामद की हैं।  दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार लाजपत नगर-तीन निवासी जोबानमीत सिंह ने अपनी टोयला फॉरच्यूनर एसयूवी कार चोरी होने की शिकायत 21 अक्तूबर को दर्ज कराई थी। मामला दर्जकर लाजपत नगर थानाध्यक्ष सत्यप्रकाश की देखरेख में एसआई राजीव गौतम व हवलदार प्रदीप की टीम ने जांच शुरू की।  पुलिस ने घटनास्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। टेक्निकल सर्विलांस व स्थानीय इनपुट के आधार पर पुलिस ने कार को बुलंदशहर यूपी में ट्रेस कर लिया। कार की नंबर प्लेट बदल रखी थी। इंजन व चैसिस नंबर के आधार पर कार की पहचान हुई। पुलिस ने करीब 48 घंटे तक कार पर नजर रखी। जब गांव काकौली थाना कोतवाली, जिला बुलंदशहर यूपी निवासी आरोपी आमिर उर्फ अमन (31) कार को लेने आया तो एसआई राजीव गौतम की टीम ने उसे 23 अक्तूबर को दबोच लिया। 
आरोपी की निशानदेही पर एक और कार मारुति बेलेनो बरामद की गई। ये कार साकेत इलाके से चुराई गई थी। इसके अलावा आरोपी के कब्जे से की-कोड स्कैनर मशीन, ड्रिल मशीन, हैमर, स्क्रू ड्राइवर सैट, काफी मात्रा में चाबी आदि सामान बरामद किया है।  आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वह अपने साथी भूरा और डरकू के साथ वाहन चोरी करता था। सदस्य वाहन चोरी करने से पहले रैकी करते थे। ये सिर्फ फॉरच्यूर, क्रेटा और स्कोर्पियो कार ही चुराते थे। दिल्ली से बाहर निकलते ही ये वाहन की नंबर प्लेट बदल देते थे। ये चोरी के वाहन सिलीगुड्डी के मोती को देते थे। शुरूआती जांच में आमिर के खिलाफ वाहन चोरी के 15 दर्ज केस मिले हैं।